Incest मेरी संस्कारी मॉम सेक्स की प्यासी

Elite Leader

0

0%

Status

Posts

545

Likes

407

Rep

0

Bits

1,603

3

Years of Service

LEVEL 5
50 XP
मेरा नाम अर्जुन है, मैं 19 साल का हूँ, मैं अपने पापा और सौतेली मां के साथ दिल्ली में रहता हूं. मेरे पापा विदेशी कंपनी अमेरिका में बड़े ऑफिसर के पद पर काम करते हैं इसलिए उनकी आय बहुत अच्छी है. दिल्ली में हम बहुत हाई प्रोफ़ाइल बिल्डिंग सोसायटी में रहते हैं. पापा हर 3 महीने में भारत आते हैं और 10-12 दिन रुक कर वापस चले जाते हैं.

मेरी सगी माँ और पापा का कुछ महीनों पहले तलाक हो गया था. मेरी एक सगी बड़ी बहन भी है. तलाक के बाद मेरी सगी मां ने दूसरी शादी कर दी थी. मेरी बड़ी बहन मेरी मां के साथ रहती है और मैं पापा के साथ!

तलाक के कुछ दिन बाद मेरे पापा ने दूसरी शादी कर दी थी. मेरे पापा दिखने में स्मार्ट और यंग दिखते हैं और पैसे वाले भी हैं इसलिए एक मध्यम परिवार ने पैसों के लालच के कारण अपनी जवान और खूबसूरत लड़की की शादी मेरे पापा से कर दी.

मेरी सौतेली माँ का नाम सीमा है. वो बहुत गौरी, भरे भरे बदन वाली है. वो 27 साल की है. वह काफी पढ़ी लिखी और दिखने में संस्कारी औरत है. शादी के बाद वो अपने बेटे की तरह मेरा ख्याल रखती थी.

मेरे पापा काफी सेक्सी हैं, शादी के बाद कुछ दिन तक उन्होंने सीमा के साथ बहुत मज़े किये। मैं रात को उनके बेडरूम में चोरी छुपे देखा करता था और सीमा की हल्की चीखने की आवाज भी सुनाई देती थी. मैं पोर्न नंगी वीडियो देखा करता था तो मुझे सेक्स के बारे में काफी कुछ पता था.

शादी के कुछ दिन बाद मेरे पापा को उनके ऑफिस अमेरिका में जाना पड़ा तो वो अकेले ही चले गए थे. अभी मैं और सीमा अकेले ही घर में रह रहे थे. मेरे पापा करीब 3 महीने बाद ही आने वाले
थे.

धीरे धीरे मैं और सीमा अच्छे दोस्त बन गए थे. मैं उसको मॉम कहकर बुलाता था. वह मुझे अजू कहकर बुलाती थी. वो थी तो मेरी सौतेली मां … लेकिन मुझे तो एक सेक्सी और हॉट औरत लगती थी. मैं उसको सपनों में नंगी देखा करता था और अपने लन्ड का वीर्य निकालता था.

एक दिन जब वो घर से बाहर गई हुई थी, तब मैं उसके बेडरूम में उसकी अलमारी से उसके ब्रा पैंटी देखने लगा. ब्रा 38डी साइज की और बड़ी ही सेक्सी थी और पैंटी भी काफी सेक्सी और बड़ी थी. यह सब देखकर मेरा लन्ड खड़ा हो गया. ब्रा की साइज से मैं सीमा के स्तनों का अंदाजा लगा रहा था. मतलब सीमा के बूब्स बहुत बड़े होंगे. और गान्ड भी तरबूज जैसे बड़ी मस्त और मोटी होगी.

इन सब से मेरा लन्ड बहुत बड़ा और सख्त हो गया था. मुझे अब मॉम को नंगी देखने और चोदने की इच्छा हो रही थी.

फिर मैंने अलमारी में जो देखा, उससे मेरा दिमाग चकरा गया. अलमारी के खाने में 2 विदेशी वाइब्रेटर वाले आर्टिफिशियल लन्ड पड़े थे जैसे मैं पोर्न वीडियो में देखा करता था. विडियो में नंगी लड़कियाँ अपनी चूत में डाल कर अपनी सैक्स संतुष्टि प्राप्त करती थी.
और एक पंप मशीन भी पड़ी थी जिससे औरतों को अपने स्तनों को दबाने में काम में लेती थी.

मैं चकरा गया कि मॉम यह सब रखती है और इस्तेमाल भी करती होगी. ऐसे तो बड़ी संस्कारी बनती है.
मेरे चेहरे पर वासना वाली मुस्कान आ गई थी. अब मुझे अपना सपना सच्चा होते हुए दिख रहा था.
मैंने वो सारा सामान वापस अलमारी में रखा और बाथरूम में जाकर मॉम को याद करके एक तगड़ी मुठ मारी और सारा माल बाहर निकाल दिया.

अब मैं मॉम सीमा को चोदने का तरीका सोचने लगा.

दूसरे दिन रात को मैं और मॉम हाल में टीवी देख रहे थे. मॉम ने टाइट टॉप और टाइट लेगीज पहनी हुई थी, उसके टॉप से दो बड़े खरबूजे (स्तन) बाहर निकल रहे थे. साइज़ तो 38 की थी ही और
उसके पीछे की गान्ड भी बहुत बड़ी और गोल थी, वो भी बाहर निकल रही थी.

मैं हाफपैंट में था, मेरे नीचे का सामान एकदम खड़ा हो गया था. मैं अपने आप को काबू नहीं कर पा रहा था. मैं आज किसी भी तरह से मॉम को नंगी देखना और उसकी चूचियो को छूना चाहता था पर हिम्मत नहीं हो रही थी. अगर मॉम ने गुस्सा कर दिया और फोन करके पापा को बता दिया तो मेरा हाल बुरा हो जाएगा.

तभी मेरे दिमाग में एक तरीका आया, मैं बोला- मॉम, टीवी से बोर हो रहा हूं, कोई अच्छा प्रोग्राम भी नहीं आ रहा है.
मॉम बोली- अजु सही कह रहा है तू, कुछ खास नहीं आ रहा है आज!

फिर मॉम ने टीवी बंद कर दिया और बोली- क्या करें? कैसे टाइम पास करें?
मैं बोला- मॉम बातें करते हैं या फिर ताश के पत्ते खेलते हैं.
मॉम बोली- ठीक है, ताश खेलने के साथ साथ बातें भी कर लेंगे.

मैं अपने कमरे से ताश के पत्ते लाया और बोला- मॉम थोड़ा तीन पत्ती टाइप खेलते हैं. जो जीतेगा वो हारने वाले से कुछ भी पूछ सकता है और कुछ भी करा सकता है. बड़ा मज़ा आएगा मॉम!
मॉम ने 10 सेकंड सोचा और बोली- ठीक है!

मैंने तीन तीन पत्ते बांटे और मॉम जीती. मॉम खुश हो गई और बोली- अच्छा बेटा, बता तू मुझे ज्यादा प्यार करता है या अपनी सगी मम्मी को?
तो मैं बोला- मॉम, जब से आप मेरी मां बन के आई हो, तब से मैं अपनी सगी मां को भूल ही गया हूं. आप जितना मेरा ख्याल और मुझे प्यार करती हो तो ऐसा लगता है कि आप ही मेरी सगी मां हो.
और ऐसा बोलकर मेने अपना चेहरा रोने टाइप वाला भावुक वाला कर दिया.

मॉम मेरा यह जवाब सुनकर बहुत ही भावुक हो गई और मुझे अपने बांहों में ले लिया और मेरे सर पर चुम्बन करके बोली- मेरा प्यारा बेटा अर्जुन.
मॉम के गले लगाने से मॉम के खरबूजे जैसे स्तन मेरे सीने से टच कर रहे थे. मेरा लौड़ा सीधा खड़ा हो गया था.

फिर मॉम मुझसे अलग होकर बोली- बेटा, मैं तुझे कभी दुखी नहीं होने दूंगी.

मॉम ने अगली बाजी के लिए पत्ते बांटे और इस बार वापस मॉम जीत गई और बोली- अच्छा बेटा, हमारी कोई भी आपस की बातें तू अपने पापा को कभी नहीं बोलेगा ना?
मैं बोला- हां मॉम, आप जो बोलोगी, वैसा ही मैं करूंगा और आप भी पापा को मत बोलना.
तो मॉम बोली- नहीं बोलूंगी बेटे!

मॉम के इस जवाब ने मुझे अंदर से बहुत ख़ुश कर दिया और मेरा मॉम को चोदने का जो प्लान था वो सही रास्ते पर जाते हुए दिख रहा था.

फिर इस बार पत्ते मैंने बांटे और मॉम फिर जीत गई और मॉम बहुत खुश हुई और बोली- आज मेरी किस्मत सिकंदर है, मैं ही जीत रही हूं.
मैं बोला- हां मॉम!

फिर मॉम बोली- बेटा तेरा कॉलेज में कोई लड़की वाला चक्कर तो नहीं है ना? मेरा मतलब कोई लवर्स या गर्लफ्रेंड तो नहीं है? पूरा पढ़ाई में ही ध्यान देता है ना! तुझे भी आगे चलकर अपने पापा की तरह बड़ा बनना है.

मैं बोला- मॉम, आपकी कसम, मेरा ऐसा कोई चक्कर नहीं है. मैं इन सब चीजों से दूर ही रहता हूं. मेरा पूरा ध्यान पढ़ाई और अपने फ्यूचर कैरियर पर ही फोकस है.
यह सुनकर मॉम बोली- वेरी गुड बेटे, मुझे तुझ पर गर्व है.

और इस बार मुझे अपनी ओर बुला कर अपनी चौड़ी बांहों में भर दिया और मेरे गाल पर किस कर दिया. मॉम के स्तन दोबारा मेरे सीने में चिपक गए थे और मैं ज्यादा गर्म हो रहा था.
मुझे डर लग रहा था कहीं मेरा लन्ड जवाब नहीं दे दे और मैं अंडरवियर में ही वीर्य ना छोड़ दूँ.

इस बार मैंने भी हिम्मत करके मॉम के गाल हल्का किस कर दिया और मॉम को भी अच्छा लगा.
फिर मॉम अलग होकर बोल- मेरा बेटा प्यारा बेटा!

इस बार मॉम ने पत्ते बांटे और भगवान का शुक्र है कि इस बार मैं जीता. मैं थोड़ी चिंता में पड़ गया कि मैं मॉम से क्या पूछूँ या कराऊँ.
फिर मैंने सीमा मॉम से कहा- मॉम आप नाराज तो नहीं होंगी ना मेरे सवाल से?
मॉम बोली- अरे बेटा, तू कुछ भी पूछ … तुझे सभी छूट है.

मैंने मॉम से पूछा- मॉम आप इतनी खूबसूरत और जवान हो. और इतनी पढ़ी लिखी होकर आपने पापा जैसे 44 साल के तलाकशुदा आदमी के साथ शादी क्यों की, आपसे तो कोई भी जवान और स्मार्ट लड़का शादी कर सकता था.
मॉम मुस्कराकर बोली- तेरी बात सही है बेटे! लेकिन मैंने बचपन से ही एक अमीर आदमी से शादी करने के सपने देखे थे और आराम और हाई प्रोफाइल लाइफ जीने के सपने देखे थे. और तेरे पापा अमीर तो हैं ही … साथ में यंग और स्मार्ट भी दिखते हैं. मेरी ज़िंदगी ऐशो आराम से कटेगी और साथ में तेरे जैसा अच्छा और प्यारा बेटा भी मिल गया. मेरे तो सारे सपने पूरे हो गए.

तब मैं बोला- मॉम, आपने एकदम सही किया है. मैं आपका हमेशा ख्याल रखूंगा.
फिर मैंने हिम्मत करके एक और सवाल पूछ दिया- मॉम आपका कॉलेज की दिनों में कोई अफेयर था क्या?
मॉम मुस्कराई और बोली- नॉटी बॉय … मेरा कोई अफेयर नहीं था लेकिन लड़के लोग मुझ पर लाइन मारने की कोशिश करते रहते थे क्योंकि कॉलेज के दिनों में मैं बहुत ही हॉट और सेक्सी दिखती थी. लेकिन मैंने किसी लड़के को अपने नजदीक तक नहीं आने दिया.

फिर मैं बोला- मॉम आप बहुत अच्छी और बहुत संस्कारी हो. आपको मैं एक बात बताना चाहता हूं कि आप अभी भी बड़ी हॉट और सेक्सी दिखती हो.
तब मॉम ज़ोर से हंस के बोली- थैंक्स बेटा, तेरी बातों से मुझे तेरे पापा की याद आने लग गई.

अब मुझे लगने लग गया कि मॉम भी अंदर से सेक्स की भूखी है.

फिर मैंने पत्ते बांटे और इस बार दोबारा मैं जीत गया और मैं बोला- मॉम, एक पर्सनल सवाल है, पूछ सकता हूं?
तो मॉम प्यार वाले गुस्से में बोली- तुझे एक बार बोला ना बेटा … तू कुछ भी पूछ सकता है और कुछ भी मुझसे करा सकता है. तुझे सब छूट है, तू मेरा इकलौता प्यारा बेटा है.

यह जवाब सुनकर तो मेरे लन्ड जबरदस्त खुशी के मारे अंडरवियर में कूद रहा था. अब मुझमें बहुत हिम्मत आ गई थी- मॉम आपका फिगर बहुत ही हॉट है खास तौर पर आपके ऊपर का फिगर, आपने कैसे संभाल के रखा है?
यह सुनकर मॉम थोड़ी गंभीर हुई फिर हल्की मुस्कराई फिर बोली- देख, मैं बचपन से ही संस्कारी हूं और संस्कारों को मानने वाले परिवार से हूं. लेकिन तू मेरा सौतेला बेटा है तुझे और तेरे पापा को खुश रखना भी मेरे संस्कार में ही है तो सीधा सवाल पूछ?

मैं बोला- ओके मॉम, मेरा मतलब यह है कि आपके बूब्स दिखने में बहुत बड़े दिखते हैं बाहर से और बहुत ही हॉट और सेक्सी दिखते हैं.
तब मॉम बोली- बेटा, मैंने अपने स्तनों को शुरू से ही संभाल कर रखा. और मैंने अपना फिगर भी शुरू से ही मेंटेन करके रखा है. तभी मेरे हिप्स और बैक साइड भी एकदम फिट है. और मैं खुद भी एकदम फिट हूं. और मेरे बूब्स के साइज बड़े हैं 38″ के … और शायद कुछ दिनों बाद 42″ तक पहुंच जाएंगे.

मैं बोला- मॉम, 38″ के 42″ कैसे हो जायेंगे?
तब मॉम बोली- बेटा, जब किसी लड़की की शादी होती है तो शादी के बाद उसके शरीर के कई अंगों में वृद्धि होती है विशेष तौर पर बूब्स और हिप्स में! क्योंकि आदमी औरत जब शारीरिक संबंध बनाते हैं तब परिवर्तन आता ही है. और तेरे पापा तो तेरे पापा हैं, बहुत ही सेक्सी हैं, वो जल्दी ही मेरे बूब्स 42″ या 44″ तक पहुंचा देंगे.
यह बोलकर मॉम शर्म से मुस्कराई और मैं भी मुस्कराया.

फिर मॉम बोली- तुझे ये सब बातें कैसे पता है?
मैं बोला- मॉम, आजकल मेरी उम्र के लोग इंटरनेट पर पोर्न वीडियो देखते है उसमें सब दिखता है.

मॉम सेक्स विडियो की बात पर थोड़ी सीरियस होकर बोली- तू यह सब देखता है?
मैं रोने जैसा चेहरा करके बोला- सॉरी मॉम, आगे से नहीं देखूंगा.
मॉम ज़ोर से हंसी और बोली- अरे बेटा, मैं तो ऐसे ही मज़ाक कर रही हूं. मुझे मालूम है कि आजकल सभी लड़के लड़कियां ऐसे वीडियो देखते ही हैं.

फिर मैंने पत्ते बांटे और इस बार भी मैं जीत गया. इस बार कुछ अलग करने का मैंने सोचा था, मैं बोला- मॉम आप खड़ी हो जाएं!
मॉम मुस्कराती हुई खड़ी हो गई.

फिर मैंने अचानक मॉम के होठों पर अपने होठों से ज़ोरदार किस किया, फिर गाल पर किया.
मॉम एकदम चकित हो गई कि यह क्या हो रहा है. वो समझ गयी कि बेटा मॉम सेक्स की सोच मन में लिए हुए है.
 
Mink's SIGNATURE
  • Like
Reactions: Rajizexy
OP
Mink
Elite Leader

0

0%

Status

Posts

545

Likes

407

Rep

0

Bits

1,603

3

Years of Service

LEVEL 5
50 XP
2 मिनट तक मैंने किस किया, मॉम को भी अच्छा ही लगा. वो नाराज़ नहीं हुई.
मैं बोला- सॉरी मॉम, यह तो इस गेम के नियम ही थे.
मॉम बोली- यस बेटे कोई बात नहीं … अच्छा लगा!

मैं खुश हो गया. फिर पत्ते बांटे और इस बार भी मैं जीत गया.
मॉम मुस्करा रही थी कि अब यह क्या करेगा.

मैं कुछ बोलता … उससे पहले मॉम बोली- बेटा, मैं सब समझ रही हूं. बस अब गेम खत्म करते हैं. रात हो गई है, तुझे सुबह कॉलेज भी जाना है, जाकर अपने कमरे में सो जाओ.
मैं हल्के रोते हुए बोला- मॉम, आपने तो बोला था कि जो मैं चाहूंगा, वो आप करोगी. फिर अब मैं जीत रहा हूं तो आप बोल रही हो खेल खत्म?

मुझे रोता देख कर मॉम थोड़ी पिघल गई और बोली- अरे बेटा रो मत … बोल क्या करना है?
मैं खुश हो गया और बोला- मॉम, मैं आपके बूब्स बिना कपड़ों के देखना चाहता हूं एक बार बस!

मॉम मेरी नीयत पहले ही समझ चुकी थी और मॉम सैक्स के लिए काफी दिनों से प्यासी थी. लेकिन जानबूझकर संस्कारीपन का नाटक कर रही थी.
मॉम बोली- चल मेरे बेडरूम में!

फिर हम दोनों मॉम के बेडरूम में गए. मॉम ने मुझे बेड पर बैठाया और बोली- बेटा, सिर्फ देख लेना, हाथ मत लगाना!
मैं बोला- ओके मॉम!

फिर मॉम ने अपना टाईट टॉप उतार दिया. मैं तो देख के पागल हो रहा था. मां ने सफेद रंग की विदेशी सेक्सी ब्रा पहनी हुई थी जिसमें मॉम के बूब्स स्तन मेरे अनुमान से भी काफी बड़े दिख रहे थे. मेरा तो कंट्रोल ही नहीं हो रहा था, हल्का हल्का पानी मेरे लौड़े से आना शुरू हो गया था.

मॉम के बूब्स ब्रा के अंदर नहीं समा पा रहे थे, आधे स्तन बाहर निकले हुए थे.

फिर मॉम ने ब्रा भी उतार दी और तरबूज जितने बड़े मॉम के बूब्स स्तन बाहर आ गए. मॉम के बूब्स एकदम नुकीले थे जिनपर मैं अपनी शर्ट भी टांग सकता था. मॉम के स्तन एकदम कसे उठे हुए थे और भूरे निप्पल … मॉम के बूब्स तो मॉम के चहरे से भी बड़े गोरे थे लेकिन थोड़े थोड़े लाल पड़े हुए थे.

मैं बोला- मॉम इतने बड़े, सेक्सी, हॉट और गोरे बूब्स तो मैंने पोर्न वीडियो में भी नहीं देखे कभी!
मॉम बोली- थैंक्स बेटा!
फिर मैं बोला- मॉम, आपके बूब्स में यह लाल लाल क्या हो गया है?

तब वो मेरे पास बेड पर आकर बैठी और बोली- बेटा, यह तेरे पापा का कारनामा है. शादी के बाद तेरे पापा ने मेरे साथ बहुत सेक्स किया और सेक्स करते वक़्त ज़्यादातर वो मेरे स्तनों के साथ बहुत खेलते थे, इनको बहुत दबाते थे अपने हाथों से खींचते थे. रात दिन मेरे इन स्तनों के साथ खेलते रहते थे, रात को इनके निप्पल को अपने मुंह में लेकर भी सो जाते थे. तुम दिन भर कॉलेज में रहते थे और तुम्हारे पापा घर में ही होते थे. जब मैं रसोई में काम कर रही होती तो पीछे से आकर मेरे स्तनों को ब्लाउज़ के ऊपर से ज़ोर से दबाते थे. नहाते वक़्त भी वे सैक्स और बूब्स में लगे रहते थे. वो चाहते थे कि मेरे स्तनों में दूध आ जाए क्योंकि उनको औरतों के स्तन का दूध बहुत अच्छा लगता है।

इस तरह से मॉम सेक्स स्टोरी सुनाने लगी मुझे. फिर मैं बोला- मॉम, आपने पापा को यह सब करने से मना क्यों नहीं किया? क्या आपको भी मज़ा आता था?
मॉम बोली- हां बेटे, मेरे को भी अच्छा लगता था क्योंकि मैंने भी अपनी जिंदगी में कभी सैक्स किया ही नहीं था और तेरे पापा को सेक्स करने के और औरत को खुश करने के सारे तरीके आते थे क्योंकि वो ज़्यादातर समय विदेशों में ही रहते हैं और वहाँ पर गोरी, लंबी और चौड़ी लड़कियों के साथ सेक्स करते रहते हैं.

मैंने पूछा- मॉम, फिर आपके बूब्ज़ में दूध आया क्या?
तो मॉम मुस्करा के बोली- बेटा, दूध ऐसे थोड़े ही आता … वो जब मैं माँ बनूँगी, तब आयेगा.

तब मैं बोला- तभी आप 38 से 44 साइज के बूब्स होने को बोल रही थी. अब मैं समझा. मॉम, यह ब्रा एकदम विदेशी और सेक्सी है.
वो बोली- तेरे पापा सब अमेरिका से लेकर आए हैं. मेरे स्तनों का साइज़ बड़ा है इसलिए विदेशी प्रॉडक्ट ही अच्छा फिट होता है.
मैंने पूछा- मॉम आपकी ब्रा साइज़ क्या है?
वो बोली- 38डी.

तब मैं बोला- गुड … मॉम लेकिन पापा अभी भी विदेश में लड़कियों के साथ मज़े करते होंगे?
वो बोली- बेटा, तेरे पापा 3-4 महीने लगातार बाहर रहेंगे तो वो भी इंसान हैं, उनको भी शारीरिक जरूरत पड़ती है. इसलिए मैंने तेरे पापा को कह दिया था कि आप विदेश में कुछ भी कीजिये लेकिन इधर आने के बाद मेरे को खुश करना पड़ेगा.

फिर मॉम बोली- हम लोग भी कौन सी बातें कर रहे हैं बेटा … इन कारणों से मेरे बूब्स लाल हो गए है और दबाने पर दर्द भी बहुत होता है. तेरे पापा के जाने के बाद मैंने डॉक्टर को दिखाया था उसने दवाई और क्रीम दी और कहा कि कुछ दिन तक किसी को भी स्तनों को छूने मत देना. इसलिए जब तुम पत्ते का खेल जीत रहे थे तब मुझे लगा अब तुम मुझे किस करने की बाद मेरे बूब्स को मसलना चाहोगे, इसलिए मैंने खेल खत्म करने को बोला.

तब मैंने कहा- ओह मॉम … यह बात है! सॉरी!

फिर मैंने पूछा- मॉम, आप 3 महीने तक कैसे रहेंगी? आप भी तो इंसान हैं. आपके जिस्म को भी सेक्स की जरूरत पड़ेगी, तो आप क्या करोगी?
तब मॉम मुस्करा के बोली- तेरी बात भी सही है बेटे. इसलिए तेरे पापा कुछ विदेशी टॉयज़ देकर गये हैं जिनसे तुम्हारी मॉम सेक्स करके अपने आप को संतुष्ट कर सकती है..
मैं बोला- मॉम, मेरे को प्लीज दिखाओ ना कि कैसे हैं टॉयज़?

मॉम ने अपनी अलमारी से सेक्सी खिलौने निकाले. दो टॉयज थे एक लन्ड जैसा था, बैटरी से चलता था, एकदम वास्तविक लन्ड जैसे लग रहा था. एक पम्प मशीन थी जिससे स्तनों को दबाया जा सके.
फिर मॉम ने और भी सामान निकाला अलमारी में से … सभी औरत को संतुष्ट करने वाले नई तकनीक वाले विदेशी सैक्स खिलौने थे.

मॉम बोली- जब तक तेरे पापा नहीं आते, मैं इन टॉयज से काम चला लेती हूं.
फिर मॉम ने टॉयज अलमारी में रख दिए.

मैं बोला- मॉम, आपके बूब्स पर क्रीम लगाना है अभी?
तो मॉम बोली- नहीं बेटा, थोड़ी देर पहले लगा ली थी मैंने!
मैंने पूछा- दर्द हो रहा है अभी बूब्स में? और आगे से क्रीम मैं लगा दिया करूंगा, जिससे आपकी हेल्प कर सकूंगा.
मॉम बोली- अभी दर्द कम है. ठीक है, कल से तू लगा लेना. ऐसे भी मुझे क्रीम लगाने में बहुत तकलीफ़ होती है एक तो इतने बड़े बूब्स हैं, मेरा हाथ ही नहीं पहुंच पाता है. तू लगाएगा तब क्रीम सारे बूब्स पर बराबर लग जाएगी.

मैं बोला- थैंक्स मॉम, अब क्या हल्का सा बूब्स टच कर सकता हूं?
मॉम बोली- हां कर ले बेटा … सिर्फ टच करना … दबाना मत!

फिर मैंने मॉम के दोनों बूब्स को हल्के से टच किए. बहुत ही मस्त मक्खन जैसे बूब्स थे … मज़ा आ रहा था छूने भर से! पापा ने इन बूब्स को काफी निचोड़ दिया था.
मेरा लन्ड खड़ा हो गया था.

तभी मॉम की नज़र मेरी हाफ पैंट पर गई जहां मेरे लन्ड एकदम बाहर निकल रहा था.
मॉम समझ गयी कि उनका सौतेला बेटा मॉम सेक्स के लिए बेचैन है, वो बोली- बेटा मेरे को तेरे इरादे ठीक नहीं लग रहे हैं.
मैं बोला- नहीं मॉम, ऐसा कुछ भी नहीं है।

मॉम बोली- एक काम कर … तू अपनी हाफ पैंट उतार!
मैं बोला- क्यों?
वो बोली- मैं तेरी मॉम हूँ ना … मेरा कहना नहीं मानेगा?
मैंने कहा- ठीक है मॉम!
और मैंने अपनी हाफ पैंट उतार दी. अब मैं केवल अंडरवियर में था, मेरा लन्ड एकदम खड़ा हुआ था जो अंडरवियर से बाहर निकलने की कोशिश में था.

मॉम बोली- बेटा, तू तो एकदम जवान हो गया है. तू ऐसे भी मेरा सौतेला बेटा है, मैं तेरी सगी माँ तो नहीं हूँ. तू चाहे तो मेरे साथ वो सब कुछ कर सकता है जो तेरे पापा मेरे साथ करते हैं. तू
घर का ही है, तेरे साथ सेक्स करने में कोई गलत नहीं है. तुझे और तेरे पापा को मेरे साथ सब कुछ करने का अधिकार है. और मेरा संस्कार भी यही कहते हैं कि तेरे पापा और तुझे खुश रखूं और तूने तो अभी तक किसी के साथ सेक्स किया ही नहीं इसलिए तू एकदम शुद्ध माल है।

मैं खुश होकर बोला- सच में मॉम?
वो बोली- हाँ बेटे, तेरा यह सामान देखकर मेरे को तेरे पापा की याद आ गई. बेटा, अपना अंडरवियर उतार दे.

फिर मैंने अंडरवियर उतार दी मेरा 5 इंच का लन्ड बाहर आ गया.
वो देखकर बोली- तेरा लन्ड तेरे पापा से छोटा है. लेकिन फिर भी मज़ा आयेगा.
यह कहकर उसने अपने अलमारी से एक गोली निकाली और बोली- इसे पानी के साथ ले ले.
मैंने वो गोली पानी के साथ ले ली.

फिर मैंने पूछा- मॉम कैसी गोली थी?
वो बोली- इसे तेरे पापा रोज़ लेते थे, इससे तेरे पापा जल्दी झड़ते नहीं थे और तू भी जल्दी नहीं झड़ेगा, बहुत मज़ा आयेगा।

गोली लेने के बाद मेरा लन्ड और ज्यादा टाइट हो गया और सीधा 6 इन्च का हो गया और मुझे घोड़े जैसी ताकत आ गई थी.

अब मैं पूरा नंगा था.
मॉम बोली- बेटा, देख बूब्स से आज बिल्कुल भी मत खेलना, कल से खेल लेना.
मैं बोला- मॉम, जैसे आप बोलोगी, वैसे ही करूंगा.

फिर मॉम ने अपनी ब्रा मुझे दे दी और बोली- आज ब्रा को चाट ले या सूंघ ले या तेरे लन्ड से रगड़ ले.
मैंने ब्रा को मुंह से चूसा और लन्ड से रगड़ दिया और नीचे रख दी.

फिर मॉम ने अपनी टाईट लेगिज उतार दी. अब मॉम खाली सफेद रंग की विदेशी और सेक्सी जालीदार पैंटी पहन रखी थी. मेरा तो पहले से 6 इंच का लन्ड हो चुका था.

मॉम की गान्ड बहुत बड़ी थी, चिकनी दिख रही थी. मॉम की चूत तो पैंटी में छुपी हुई थी.
मैं बोला- मॉम आपकी पैंटी का साइज़ क्या है?
वो बोलो- बेटा, पैंटी तो 38 की पहनती हूं लेकिन मेरी गान्ड का साइज़ 40 है.

फिर मॉम ने अपनी पैंटी उतार दी. मॉम की चूत एकदम साफ और गोरी थी.

मैं तो जिंदगी में यह सब पहली बार देख रहा था. वो भी अपनी सौतेली मां को … पोर्न वीडियो से अच्छी थी मॉम की गान्ड! और चूत के ऊपर तो एक भी बाल नहीं दिख रहा था. मॉम ने अपनी चूत और गान्ड को बहुत देखभाल करके रखा था.

फिर मॉम बोली- कैसी लग रही हूं मैं बेटा?
मैं बोला- मॉम, हॉट और सेक्सी से ऊपर वाले लेवल की हो आप! पापा बड़े किस्मत वाले हैं जिन्हें आप जैसी अप्सरा और हुस्न की महारानी बीवी के रूप में मिली है.
यह सुनकर मॉम बहुत खुश हो गई, बोली- थैंक यू बेटा जी, यह अप्सरा अपने बेटे को भी खुश कर देगी.

फिर मैं बोला- मॉम कंडोम है क्या?
वो हंस के बोली- तू उसकी चिंता मत कर!
मैं बोला- ओके मॉम!

फिर मॉम ने ड्रेसिंग टेबल से एक स्प्रे अपने चूत के अंदर छिड़का और बोली- इससे अब मैं जल्दी नहीं झड़ूँगी.
मॉम ने मुझे पलंग पर सीधे लेटने को कहां और मैं सीधा लेट गया. मेरा 6 इंच का लन्ड खड़ा था.

मॉम फ्रिज से आइसक्रीम लेकर आई और मेरे लन्ड पर लगानी शुरू कर दी. और फिर मॉम मेरे लन्ड पर से आइसक्रीम चाटने लग गई. आइस क्रीम बहुत ठंडी थी लेकिन मुझे दर्द के साथ मज़ा ज्यादा आ रहा था.

कुछ देर में आइसक्रीम तो खत्म हो गई थी पर मॉम मेरे लन्ड को ज़बरदस्त तरीके से चूस रही थी. मेरा लन्ड उनका गले के अंदर तक जा रहा था. वे मस्त चूस रही थी. शायद पापा का भी चूसने का अनुभव जो था.
मेरे लन्ड के आगे की चमड़ी बहुत पीछे चली गई थी, अंदर का लाल सुपारा बाहर था. मॉम तो चूसे ही जा रही थी.

अब मेरे मुंह से भी हल्की आवाजें आने लग गई थी. मॉम ने मेरे लन्ड के नीचे वाली दोनों बॉल को भी चाट रही थी. करीब 15 मिनट तक मॉम लगी रही थी. स्प्रे के कारण मॉम में सैक्स की घोड़ी की ताकत आ गई थी.

फिर मॉम मेरी छाती के मेरे दो छोटे छोटे स्तनों को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी थी और दबा भी रही थी, खींच भी रही थी.
मैं बोला- मॉम मेरे तो आपके सामने कुछ भी नहीं हैं.

मॉम बोली- बेटा, मुझे दूसरे के स्तन अच्छे लगते हैं. तेरे पापा के भी मैं बहुत चूसना चाहती हूं लेकिन तेरे पापा चूसने ही नहीं देते थे. जब भी मैं उनके बूब्स को अपने मुंह में डालने की कोशिश करती … तो वो मेरी गान्ड में चुटिया काट लेते और ज़ोर से गान्ड को दबा देते या फिर मेरी गान्ड में उंगली डाल देते. और कभी कभी मेरे बालों को जोरदार खींच लेते जिससे मैं दर्द के मारे चूस नहीं पाती थी. लेकिन तू मेरा बेटा है, तेरे साथ सब करूंगी.

मैं बोला- मॉम, आप सब कुछ कीजिए मेरे साथ … मैं ज़रा भी मना नहीं करूंगा.
मॉम बोली- थैंक्स बेटा!
 
Mink's SIGNATURE
  • Like
Reactions: GarmDudh
OP
Mink
Elite Leader

0

0%

Status

Posts

545

Likes

407

Rep

0

Bits

1,603

3

Years of Service

LEVEL 5
50 XP
मेरी सौतेली मॉम मेरे स्तनों को चूस रही थी, निप्पल दांतों से खींच रही थी और दबाए जा रही थी.
फिर मॉम मेरे मुंह पर आ गई और मुझे ज़ोरदार किस देना शुरू कर दिया मेरे होंठों पे, गाल पे, गर्दन पे!

मुझे तो बहुत मज़ा आ रहा था … सपने में भी मैंने ऐसा नहीं सोचा था कि मॉम के साथ यह करने को मौका मिलेगा. मॉम के होंठ तो बहुत रसीले थे, गाल तो चिकने थे.

15 मिनट बाद मॉम का यह किस और चुम्मा चाटी का कार्यक्रम खत्म हुआ. मॉम बहुत गर्म हो चुकी थी लेकिन आज मुझे मॉम की सबसे खास चीज बूब्स से खेलने की छूट नहीं थी. मैं तो मॉम के नंगे बदन को देखकर ही बहुत खुश था. मुझे ऐसा लग रहा था कि स्वर्ग मिल गया है.

फिर मॉम ने गजब ही कर दिया … मॉम मेरे मुंह पर बैठ गई, अपनी चूत को मेरे मुंह पर रख दिया और बोली- बेटा, अपनी मॉम की चूत को चाट कर मॉम को खुश कर दे. मस्त चाट ले!

मॉम ने अपनी गीली चूत को अपने हाथ से थोड़ा चौड़ी किया. फिर मैं अपनी जीभ से मॉम की चूत मस्त चाटने लगा. साथ साथ में होंठों से भी चूत को चूस रहा था. मेरी जीभ मॉम की चूत के अंदर तक जा रही थी.
मेरी सेक्सी मॉम को बहुत मज़ा आ रहा था, वो चीख रही थी- वेरी गुड बेटा … फॅक मी! आह आह आई ऊह करते रहो!

मॉम की चूत का थोड़ा पानी मेरी मुंह में आ रहा था. पानी मॉम की तरह मीठा और स्वादिष्ट था. 2-3 बार मैंने जोश जोश में मॉम की चूत हल्की सी काट ली.
तब मॉम चिल्लाई- नहीं नहीं नहीं … मर गई आह आई ओह!
फिर मैंने मॉम को बोला- सॉरी मॉम, गलती से हो गया.
मॉम बोली- कोई बात नहीं बेटा … मुझे अच्छा लगा. सेक्स में दर्द का ही तो मजा होता है. फिर भी तू बहुत जेंटलमैन जैसे ही चाट रहा है. तेरे पापा तो … बाप रे बाप!

मैं बोला- बताओ ना मॉम … सेक्स कैसे करते थे आपके साथ पापा?
मैं अपनी मॉम की चूत को लगातार चाट रहा था और मेरी जीभ बराबर चूत को खोदे जा रही थी.
बात भी चल रही थी.

मॉम बोली- तेरे पापा तो मेरी चूत को बहुत चौड़ी कर लेते हैं, फिर अपना मुंह डालकर बहुत काटते हैं दर्द बहुत होता तो मज़ा भी आता है. तेरे पापा अपनी उंगली से ही मेरी चूत को खुश कर देते थे, उंगली से ही खुदाई कर देते थे. मेरी चूत को दर्द भी बहुत होता था और में चीखती भी बहुत थी लेकिन वो कभी नहीं रूकते थे।

मैं बोला- आप पापा को मना क्यों नहीं करती थी?
मॉम बोली- बेटा, सेक्स जैसी चीजों में यह होता रहता है और तेरे पापा मुझे प्यार भी बहुत करते हैं. वे सैक्स में भी मुझे पूरी तरह खुश कर देते हैं.

फिर मॉम बोली- बेटा अब चूत चाटने का प्रोग्राम खत्म करते हैं. अब मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा है. तू अब अपना लन्ड मेरी चूत में डाल के चोद ले!

मैं बेड पर बैठ गया और बोला- मॉम, सेक्स कौन सी पोजिशन में करूँ?
मॉम बोली- बेटा, आज तो सीधा सरल पोजिशन में ही कर ले, बाकी कल से सभी पोजीशनों में करेंगे.

फिर मॉम सेक्स के लिए बेड पर सीधी लेट गई और अपनी टांगों को सीधा कर दिया. मॉम बहुत भरी भरी थी तो उनकी चूत काफी उठी उठी दिख रही थी.
अब मॉम बोली- बेटा, तेरा पहली बार है यह … तो तू अपने लन्ड को अंदर बाहर धीरे धीरे करना, ज्यादा तेज शॉट आज मत मारना.
मैं बोला- ओके मॉम!

फिर मैंने अपना लन्ड मॉम की चूत में डालना शुरु कर दिया.
मॉम की आवाज निकली- उम्म्ह… अहह… हय… याह…
मेरा लन्ड पूरा मॉम की चूत घुस रहा था लेकिन मॉम की चूत एकदम वर्जिन जैसी टाईट थी. ऐसा लग रहा था कि मॉम सेक्स पहली बार कर रही हों, उनकी पहली चुदाई हो रही हो. ऐसा बिल्कुल भी नहीं लग रहा था कि पापा मॉम के चूत को भोसड़ा बना दिया हो.

मैं बोला- मॉम, आपकी चूत तो एकदम टाइट और फिट है. मैंने तो इंटरनेट पर पढ़ा था कि औरतों की चूत शादी के बाद ढीली ढाली और चौड़ी हो जाती है और लन्ड डालने वाले को मज़ा नहीं आता है लेकिन आपकी चूत तो बहुत टाइट और वर्जिन लगती है.
मॉम बोली- बेटा, यह मेरी योगा और एक्सरसाइज का कमाल है और साथ में कुछ क्रीम भी लगाती हूं जिससे चूत हमेशा टाईट रहे. नहीं तो तेरे पापा मेरी जितनी चुदाई करते थे दिन रात तो अब तक मेरी यह चूत, चूत नहीं भोसड़ा या बड़ा समुन्दर बन चुकी होती. और तेरे पापा को भी चोदने में मज़ा नहीं आता.

मैं बोला- मॉम आप ग्रेट और बुद्धिमान हो.
मॉम बोली- बेटा, तेरा लन्ड तो पूरा मेरे चूत में जा रहा है. तेरे पापा का जाता ही नहीं! काफी बड़ा और मोटा है उनका!

मैंने अपना लन्ड मॉम की चूत में अंदर बाहर करना शुरू कर दिया. मॉम को बहुत मज़ा आ रहा था. वे हल्की सी आवाज भी कर रही थी- ऊ ओ ओ ओ मा!
और मॉम अपना एक हाथ अपने ही बूब पर रख कर दबाने लगी.

फिर मैंने मॉम के दोनों हाथों को पकड़कर बेड रख दिया और बोला- मॉम, अपने बूब्स को मत छेड़िए, फिर दर्द होगा.
मॉम बोली- हां बेटे … क्या करूँ … आज बहुत दिन बाद मजा आ रहा है. तेरे पापा के जाने बाद आज मेरी प्यास बुझ रही है इसलिए उत्तेजना के मारे अपना बूब्स दबा रही हूँ.
मैं बोला- मॉम आगे से मैं रोज आपको खुश करता रहूंगा.

और मैं लगातार मॉम को चोदे जा रहा था. हम बातें भी कर रहे थे और माँ बेटे की चुदाई भी चालू थी. मुझे भी मज़ा आ रहा था और मॉम को भी!
फिर वो बोली- बेटे कल से ये मेरे खरबूजे जैसे बूब्स भी तेरे हो जाएंगे, जैसा तू चाहे वैसा करना.

मैं बोला- थैंक्स मॉम!
फिर मैंने मॉम के होंठों पे ज़ोरदार किस किया, मॉम के पूरे दोनों होंठों को पूरा चाट लिया.
मॉम को बहुत मज़ा आया, मॉम बोली- बेटा, तू बहुत जेंटलमैन है सैक्स के मामले में … बहुत सही तरह से करता है. नहीं तो कोई और होता तो मेरी जैसी हॉट और सेक्सी औरत की चूत को चोदकर फाड़ डालता.

मेरा चोदना चालू था. ना मॉम झड़ रही थी … ना मैं … हम दोनों माँ बेटा सेक्स में घोड़ा घोड़ी बने हुए थे.
मैं बोला- मॉम, पापा कितनी बार करते थे?
मॉम बोली- तेरे पापा का तो कितनी बार तो पूरी रात तक प्रोग्राम चलता था. जब नींद आने लगती तब वो रूकते थे. और दिन में तू तो बाहर होता था तो हम लोग ड्राइंगरूम में भी करते थे, किचन में भी और बाथरूम में तो करते ही थे, नहाते भी साथ में ही थे.

मैं बोला- वाउ मॉम, मस्त और रंगीन जिंदगी थी ना आपकी पापा के साथ!
मॉम बोली- हां बेटे, तभी तो उनके जाने के बाद में बहुत निराश और दुखी हो गई. मुझे सेक्स की आदत पड़ गई है. फिर मैं इन सेक्स टॉयज से ही अपना पानी निकालने लग गई.

मैं बोला- मॉम, अब चिंता की कोई बात नहीं है, मैं खुश कर दूंगा आपको!
मॉम बोली- हां बेटे, अब मेरी जिंदगी में वापस खुशियाँ गई हैं. कल तो तेरे पापा से वीडियो कॉलिंग बात हुई थी, उस कॉलिंग से मैंने पानी निकाला.

मैं बोला- कैसे मॉम?
मॉम बोली- तेरे पापा और मेरी रोज बात होती है, कल मैं थोड़ा दुखी दिख रही थी तो उन्होंने बोला कि सीमा दुखी मत हो. क्या करें मजबूरी है काम की. ऐसे भी कुछ महीनों बाद आ ही रहा हूं. फिर एक बड़ा और लम्बा हनीमून के लिए यूरोप निकल जाएंगे.
मैं बोला- गुड मॉम!

फिर मॉम बोली- फिर तेरे पापा ने वीडियो कॉलिंग से मुझे नंगी होने को बोला और खुद भी नंगे हो गए. मैंने अपनी चूत में टॉयज वाला लन्ड डाला और तेरे पापा ने चूत के टॉय में अपना लन्ड! और फिर शॉट लगाते रहे. और आखिर में हम दोनों को संतुष्टि मिली.
मैं बोला- गुड मॉम!

फिर मॉम बोली- बेटा, अब मैं झड़ने वाली हूं. अपना मुंह मेरी चूत में डाल दे और सारा पानी पी लेना.
मैंने अपना लन्ड मॉम की चूत से निकाला और अपना मुंह चूत पर चिपका दिया और धड़ाधड़ मॉम की चूत से पानी निकलने लगा. मैंने सारा पानी पी लिया. पानी बहुत ही स्वादिष्ट था.
मैं मॉम को बोला- मैंने आपकी चूत का सारा पानी पी लिया, बहुत टेस्टी है.
मॉम बोली- थैंक्स बेटा, तेरे पापा भी यही कहते हैं.

फिर मैं बोला- मॉम, मैं अभी झड़ नहीं पा रहा हूं और थक भी गया हूं.
मॉम पलंग से उठकर बोली- बैठ, मैं बाथरूम में सूसु करके आती हूं.

मॉम बाथरूम में मूत कर वापस आई और बोली- मैं तुझे अभी झड़ा देती हूं.
फिर वो फ्रिज से आइस क्रीम लाई और बोली- मैं अभी उल्टी लेटूंगी और तू यह आइस क्रीम मेरी दोनों गान्ड पर और गान्ड के छेद पर अच्छी तरह से लगा लेना. और फिर वो ड्रेसिंग टेबल पर पीले रंग की बोतल में से तेल अपने लन्ड के आगे हिस्से से पीछे तक अच्छी तरह से लगा ले, फिर अपना लन्ड मेरी गान्ड में डाल दे. इससे मेरी गान्ड मारने का प्रोग्राम भी पूरा हो जाएगा।

मैं बोला- मॉम, आपकी गान्ड का छेद छोटा है, मेरा लन्ड कैसे जाएगा इसमें … और आपको दर्द बहुत होगा.
मॉम मेरे गाल पर और होंठ पर चुम्मा करके बोली- मेरे प्यारा बेटा, तू बहुत अच्छा है, तुझे अपनी मॉम को बहुत चिंता रहती है. मैं बहुत खुश हूं. लेकिन तेरा लन्ड यह तेल लगाने के बाद मेरी गान्ड में आराम से घुस जायेगा. दर्द तो होगा लेकिन मज़ा भी आएगा. तेरे पापा का तो 8 इंच का अंदर जाता ही है.
मैं बोला- ओह मॉम, पापा बड़े स्वार्थी हैं, वो अपने सुख के लिए आपको दर्द देते हैं.
मॉम बोली- बेटा, चलता है. अब तू जल्दी कर … नहीं तो आइसक्रीम पिघल जाएगी.

फिर मॉम उल्टी लेट गई गान्ड मेरी तरफ करके!

मॉम की गान्ड तो क्या गान्ड थी … पोर्न वीडियो में नहीं देखी ऐसे मोटी चोड़ी गोरी और एकदम चिकनी गान्ड!
मेरा मन तो हो रहा था कि मैं मॉम की गान्ड को खा जाऊं. लेकिन मैंने मॉम की गान्ड पर आइस क्रीम अच्छी तरह से लगाई और वो तेल मैंने अपने लन्ड पर लगाया. फिर मैं मॉम की गान्ड की आइसक्रीम को चाटने लग गया.

मज़ा आ रहा था मॉम को भी … क्योंकि आइस क्रीम बहुत ठंडी थी. मैंने पूरी आइस क्रीम खत्म कर दी.
अब गान्ड का छेद देखा.

फिर मॉम ने बोला- मेरी गांड के छेद को अपने हाथ से थोड़ा चौड़ा कर दे. फिर अपना लन्ड डाल दे.

मैंने माँ की गांड चौड़ी करके अपने लन्ड डाला. उस तेल की वजह से मेरा लन्ड एकदम चिकना हो गया था, मेरा पूरा लन्ड माँ की गांड में चला गया और मॉम चीखी चिल्लाई- ओह आ ये उई!
फिर मैंने शॉट मारना शुरू कर दिया. मुझे मज़ा आ रहा था लेकिन मॉम को दर्द हो रहा था.

मैं मॉम को पूछ रहा था- मॉम, आप ठीक हो ना?
मॉम बोली- बेटा, आई एम फाइन! बेटा चालू रखो. दर्द के साथ मज़ा भी आता है. तेरे पापा तो 5-5 मिनट तक अपना लन्ड बाहर ही नहीं निकालते थे. तब कितना दर्द होता होगा. तू चालू रख!

मैं अपना लंड माँ की गांड में अंदर बाहर करता रहा. मेरा लन्ड छोटा होने की वजह से मॉम को दर्द कम और मज़ा ज्यादा आ रहा था. मेरी माँ की गांड भी बहुत फिट और कड़क थी एकदम चूत की तरह!
मॉम योगा भी करती थी और एक्सरसाइज और क्रीम का उपयोग करती थी इसलिए हमेशा फिट ही रहती थी.

10 मिनट तक माँ की गांड मारने के बाद मेरे लन्ड में दर्द शुरू हो गया था, मैं झड़ने वाला था.
मैंने मॉम को बोला- मॉम, मैं झड़ रहा हूं.
फिर वो सीधे लेट गई और बोली- तेरा वीर्य मेरे मुंह में डाल दे.

मैंने अपना लन्ड मॉम के मुंह में डाल दिया और मेरा पूरा वीर्य मॉम के मुंह में चला गया. मॉम ने सारा पी लिया और बोली- बेटा, तेरा वीर्य तो बहुत मस्त था रबड़ी जैसा था. क्योंकि तू एकदम वर्जिन और शुद्ध है. तेरे पापा का तो बेस्वाद होता है लेकिन मजबूरी में पीना पड़ता है.

फिर मॉम बोली- बेटा, तूने खुश कर दिया, आज तूने मेरी मस्त चुदाई की.

मॉम सीधे मुंह नंगी ही बेड पर लेट गई और मैं बाथरूम चला गया और अपने लन्ड को अच्छी तरह से धोकर आ गया.

अब तक मॉम थक गई थी और मैं भी! मैं बोला- मॉम, मैं अपने रूम में सोने जा रहा हूं.
मॉम बोली- आज से तू इधर ही सोएगा मेरे साथ … जब तक तेरे पापा नहीं आते.
मैं बोला- ओके मॉम, जैसी आपकी आज्ञा!

तब मैं नंगा ही मॉम के बाजू में लेट गया और मॉम भी नंगी ही लेट गई. फिर मॉम मेरे नंगे बदन से चिपक कर सो गई और मैं भी सो गया.

और इस तरह मेरे जीवन की कामुकता की शुरुआत मॉम सेक्स से हुई.
 
Mink's SIGNATURE
OP
Mink
Elite Leader

0

0%

Status

Posts

545

Likes

407

Rep

0

Bits

1,603

3

Years of Service

LEVEL 5
50 XP
फिर रात को मॉम अपना एक हाथ और एक टांग, मेरे ऊपर रख कर सो गई थी. मैं भी सो गया था क्योंकि मैं बहुत थक गया था.
मेरा पहली बार था और मैंने सैक्स शक्तिवर्धक गोली ली थी इस कारण ज्यादा थकान आ गई थी मॉम शायद ज्यादा थकी नहीं थी क्योंकि उनका मेरे पापा के साथ लंबे समय तक सेक्स करने की आदत थी.

अगले दिन सुबह मेरा कॉलेज जाने का मन नहीं हो रहा था क्योंकि मैं पूरे दिन मॉम के साथ रहना चाहता था. मैं उनके बूब्स के साथ खेलना चाहता था चूत और गान्ड के साथ अपने लन्ड का एनकाउंटर करना चाहता था.

रोज सुबह मॉम जल्दी नहा धोकर तेयार हो जाती थी क्योंकि वो संस्कारी के साथ धार्मिक भी बहुत थी वो रोज नियमित रूप से भगवान की पूजा करती थी इसलिए उन्हें सुबह भगवान की पूजा भी करनी होती थी.

फिर सुबह सुबह मॉम ने मुझे नींद से उठा दिया और जल्दी से तैयार होकर कॉलेज जाने को बोल कर बाहर चली गई.
मॉम रोज सुबह की तरह आज भी साड़ी में ही थी.

मैं जल्दी से बेड से उठा और बाथरूम में चला गया. फिर थोड़ी देर बाद एकदम तैयार होकर अपने कॉलेज का बुक्स का बैग लेकर डायनिंग रूम में डायनिंग चेयर पर बैठ गया।

तब तक मॉम की पूजा भी पूरी हो चुकी थी. उन्होंने रोज की तरह मुझे खाने के लिए सुबह का नाश्ता और पीने के लिए जूस दिया और दोपहर के खाने का टिफिन भी दे दिया.

मॉम मेरे पास वाली चेयर पर बैठ कर खुद नाश्ता करने लगी तो मैं बोला- मॉम, आज कॉलेज नहीं जाने का मन कर रहा है, आज पूरे दिन आपके साथ रहना चाहता हूं मैं!
वे बोली- बेटा, पहले पढ़ाई … फिर उसके बाद सब कुछ! मैं कहीं भागी थोड़ी जा रही हूं, इधर ही तो हूं. मुझे भी कल बहुत मज़ा आया. लेकिन सब कामों का एक समय होता है. पढ़ाई के समय पढ़ाई और सैक्स के समय सेक्स, अभी तुझे अपना फ्यूचर और कैरियर बनाना है, समझा.

मैं बोला- यस मॉम!
फिर मैं नाश्ता और जूस खत्म करके मॉम को बाय करके कॉलेज के लिए चला गया।

कॉलेज में मेरा मन लग ही नहीं रहा था. मेरे ख्याल में मॉम और उनका सेक्सी नंगा बदन ही आ रहा था और पिछली रात की चुदाई भी याद आ रही थी.
मैं जल्दी से जल्दी घर जाना चाहता था और मॉम के साथ सब कुछ करना चाहता था जो कल बाकी रह गया था. ख़ास तौर पर मैं मॉम के खरबूजे जैसे बूब्स के साथ खेलना और उन्हें चूसना चाहता था.

दोपहर के 3 बजे कॉलेज की छुट्टी हो गई और मैं बहुत खुश और एक्साइटेड होकर घर की ओर निकल गया.
मैंने घर के दरवाजे की बेल बजाई. मॉम ने दरवाजा खोला. मॉम ने मस्त डिजाइनर सलवार कमीज़ पहन रखी थी। कमीज़ टाईट तो थी ही उसमे बूब्स बाहर निकले हुए थे. मॉम के कपड़े ज्यादातर
टाइट फिटिंग ही होते हैं.

मॉम बोली- आ गया बेटा, फ्रेश हो जा और कपड़े चेंज कर ले! मैं खाना लगाती हूं.
मैं चेंज करके आ गया.
तब तक मॉम ने खाना लगा दिया था और हम दोनों खाना खाने बैठ गए.

मैं बोला- मॉम, आप इन कपड़ों में हॉट और बहुत सुंदर दिख रही हो. और आज आपने घर पर यह डिज़ाइनर प्रीमियम क्वालिटी के सलवार कमीज़ क्यों पहने? ये कपड़े तो आप शादी फंक्शन जैसे इवेंट्स में पहनती हैं.

तब मॉम बोली- अजू बेटा थैंक्स, आज अपनी बिल्डिंग सोसायटी की औरतों की किट्टी पार्टी थी. आज सारा प्रोग्राम मेरी सहेली रेशमा के घर पर था इसलिए ये कपड़े पहनकर गई थी. अभी उतारने वाली ही थी कि तू आ गया.

मैं बोला- मॉम, किट्टी पार्टी में सबसे सेक्सी और हॉट आप ही दिख रही होंगी?
मॉम बोली- नहीं बेटा और भी है 3-4 लेडीज जो मेरी जैसे फिगर वाली है और दिखने सेक्सी और हॉट नजर आती हैं. तूने मेरी सहेली रेशमा को तो देखा ही है. वो तो मुझसे से ज्यादा सेक्सी और हॉट है.
मैं बोला- हां मॉम, रेशमा आंटी हॉट और सेक्सी है लेकिन आपके जितनी नहीं.
मॉम बोली- थैंक्स मेरा प्यारे बेटा जी!

हमारा खाना खत्म हो गया. मॉम ने बरतन किचन में रख दिए और बेडरूम की ओर चली गई.
मैं भी पीछे पीछे मॉम के बेडरूम में चला गया.

मॉम अलमारी खोलकर घर के पहनने की कपड़े निकालने लग गई.
मैं बोला- मॉम, मैं निकालूं आपके कपड़े?
मॉम कातिलाना अंदाज़ में मुस्कराकर के बेड पर बैठ कर बोली- आप ही अपने चॉइस के कपड़े निकाल दीजिए.

मैंने अलमारी से एक टाईट पिंक कलर की लेडीज़ सेक्सी हाफ पैंट, जो लेडीज पैंटी से थोड़ी सी लंबी होती है और जो शायद मॉम बेडरूम में जब पापा होते थे, तब ही पहनती होंगी. मेरे सामने तो कभी भी मॉम इतने छोटे कपड़ों में नहीं दिखी, वो निकाली और एक छोटा सा टाईट लेडीज बनियान जो सिर्फ बूब्स को ढकता था, वो निकाला.
और बोला- मॉम, इन्हें पहन लीजिए.

मॉम ने कपड़े ले लिए.
मैं बोला- मॉम, आप क्या ये कपड़े अभी पहनने वाली हो क्या?
मॉम बोली- हां बेटा, अभी चेंज करके थोड़ी देर नींद ले लेती हूं. किटी पार्टी के कारण शरीर में थकान आ गई है.

मैं सोच रहा था कि मॉम को कल का वादा याद होगा और वो आज अपने बूब्स को चूसने का मौका देंगी और चुदाई का भी मौका भी देंगी.

मॉम वो कपड़े लेकर बाथरूम में चली गई.
पर मैं तो सोच रहा था कि मॉम कपड़े मेरे सामने ही चेंज कर लेंगी और मुझे मॉम के चिकने, सेक्सी और नंगे बदन की दर्शन हो जाएंगे. लेकिन मॉम तो अभी मुझसे क्यों शरमा रही हैं? कल रात तो हमारे बीच सब कुछ तो हो गया था.

मुझे थोड़ी चिंता होने लग गई कि मॉम ने कहीं अपने इरादे तो नहीं बदल दिए? कहीं उनके संस्कार, मां बेटे के सैक्स के रिश्ते को गलत तो नहीं मानने लग गए?

तभी मॉम बाथरूम से आई टाईट शॉर्ट, टी शर्ट पहने हुए … जो लंबाई में ब्रा जितना ही था. उसमें से मॉम के विशाला चूचे बाहर आ रहे थे. मॉम का गोरा पेट पूरा दिख रहा था और सेक्सी हाफ पैंट पहने हुई थी.

मॉम का हॉट, सेक्सी और अर्धनग्न बदन मेरे होश उड़ाए जा रहा था और मेरा नीचे का सामान खड़ा हो गया था.

मॉम ने अपनी डिजाइनर सलवार कुर्ती को अलमारी में रख दिया और पलंग पे लेट गई और मुझे बोली- बेटा, तू भी लेट जा, थोड़ा आराम कर ले!
मैं भी मॉम के बाजू में लेट गया, मुझे नींद तो आने वाली नहीं थी और ना ही मैं थका हुआ था. मेरा तो प्रोग्राम कुछ और ही था लेकिन मॉम का शायद मूड कुछ और ही था.
पर मैं कोई जबरदस्ती भी नहीं कर सकता था जिससे मामला पूरा उल्टा हो जाए.

फिर मैंने हिम्मत और साहस करके पूछ लिया- मॉम, आप मुझसे नाराज़ हो क्या?
तो मॉम बोली- नो बेटा, तू ऐसे क्यों बोल रहा है?
मैं बोला- मॉम, फिर आपने कपड़े भी मेरे सामने चेंज नहीं किए. कल रात को हमारे बीच सब कुछ हो गया था ना!

मॉम हल्के से मुस्करा और हल्की सी हंसी से बोली- ओह माय गॉड, तो तू इस बात से परेशान है. अरे वो मुझे ख्याल ही नहीं आया था नहीं तो मैं तेरे सामने ही चेंज कर लेती.
मॉम की यह बात सुनकर मेरे जान में जान आई और मैं अंदर से बहुत खुश हुआ. नीचे मेरा लौड़ा भी अंडरवियर में नाचने लगा.

फिर मैं बोला- ओह ओके मॉम!
मॉम बोली- अभी सो जाते हैं क्योंकि मैं बहुत थक गई हूं. रात को अपना प्रोग्राम करेंगे.
मैं नकली मुस्कराहट से बोला- ओ.के. मॉम, नो प्रॉब्लम!

फिर हम दोनों सो गए, मॉम को तो गहरी नींद आ गई थी और मुझे कच्ची पक्की नींद आ रही थी क्योंकि मेरे अंदर की वासना चरम पर थी और मेरा लन्ड भी अपने लिए खड़ा यानि चूत मांग रहा था लेकिन मैं कर भी क्या सकता था रात का इंतजार ही कर सकता था.

मैं अपने मन में रात के लिए मॉम के साथ सेक्स करने के तरह तरह के प्लान बना रहा था, पोर्न वीडियो जैसे सारे तरीके आज मॉम के साथ करूंगा, बस यही सोचकर खुश हो रहा था.

करीब 2 घंटे बाद मॉम के मोबाइल में रिंग आई. मॉम फटाफट नींद से जाग गई और मोबाइल में देखा और मुझे जगाकर बोली- बेटा, तेरे पापा का कॉल है.
मैं भी जागने का नाटक जैसा कर उठ गया और बेड पर बैठ गया.
फिर मॉम ने कॉल उठाया और उनकी और पापा की बातें होने लग गई.

मॉम बोल रही थी- आप कैसे हैं? मैं ठीक हूं. अर्जुन भी ठीक है. वो अभी अपने दोस्त के घर स्टडी के लिए गया हुआ है, घंटे भर बाद आएगा.
शायद यह सब पापा फोन पर पूछ रहे थे.

फिर 2 मिनट बाद मॉम ने हल्की टेंशन में कॉल डिस्कनेक्ट कर दिया और मुझे बोली- बेटा, तेरे पापा अभी 5 मिनट में मुझे वीडियो कॉलिंग में बात करेंगे. और आज उन्होंने ड्राइंग हाल की बड़ी वाली एंड्राइड इंटरनेट टीवी से वीडियो कॉलिंग की बात बोली है. तू जाकर टीवी चालू कर … तब तक मैं ये कपड़े बदल कर आती हूं.

मैंने ड्रॉइंग हाल की 80 इंच की टीवी को चालू कर दिया और टीवी इंटरनेट से जुड़ी हुई थी और कैमरा उसमें पहले से ही लगा ही था. मेरे को कुछ कुछ समझ में आ गया था कि पापा वीडियो कॉलिंग से मॉम को नंगी करेंगे और मॉम के चूत को संतुष्ट करेंगे और खुद भी अपना वीर्य निकाल देंगे.

पापा बड़े कमीने हैं जो खुद तो विदेश में दूसरी औरतों के साथ चुदाई करते हैं, अपनी प्यास बुझाते हैं लेकिन मॉम कहीं अपनी प्यास बुझाने इधर उधर नहीं भटक जाए, इसलिए वो वहीं से बैठे बैठे मॉम की प्यास बुझा रहे हैं.
वाह पापा जी वाह!

लेकिन यह वीडियो कॉलिंग चुदाई मैं भी देखना चाहता था तो मैंने फटाफट अपने दिमाग की लाइट जलाई. मैंने अपने मोबाइल के कैमरा को ऑन किया और उसको मेरे सोशल मीडिया अकाउंट से लाइव कर दिया. फिर मोबाइल मैंने हॉल के एक कोने में टेबल पर ऐसा रख दिया जिससे मॉम को भी मालूम नहीं चले कि मोबाइल का कैमरा चालू है. और जो कुछ हॉल में जो होगा वो मैं अपने बेडरूम में लैपटॉप से लाइव देखूंगा.

फिर मॉम कपड़े चेंज करके आई, साथ में वो नकली वाइब्रेट वाला लिंग भी लेकर आई थी.

मॉम ने अभी लॉन्ग ब्लैक कलर की फुल साइज की नाइटी पहने के आई जिसमें मॉम का पूरा बदन ढका हुआ रहता है.
इस नाइटी के आगे इसको उतारने के लिए छोटी रिबन लगी रहती है. ऐसे ही कपड़े मॉम मेरे सामने पहनती हैं, संस्कारी जो हैं. और पापा को भी यही दिखाना चाहती थी मॉम!

फिर मॉम बोली- बेटा, तू बेडरूम में जाकर बैठ जा तेरे पापा को मालूम नहीं चलना चाहिए कि तू इधर ही है क्योंकि अब वो मुझसे वीडियो कॉलिंग से सेक्स करेंगे और जिससे मुझे और तेरे पापा को संतुष्टि मिलेगी. इसलिए मैंने तेरे बारे में झूठ बोला कि तू बाहर है. मैं अगर वीडियो कॉलिंग सैक्स के लिए मना करती तो वो फालतू में परेशान होते!
मैं बोला- ओके मॉम!

फिर मैं अपने बेडरूम में चला गया और दरवाजा बंद कर दिया. मैं अपना लैपटॉप चालू करके सोशल मीडिया अकाउंट को लॉगिन करके लाइव वीडियो देखने लगा. इसमें मॉम तो साफ साफ दिख ही रही थी, साथ में टीवी भी!
 
Mink's SIGNATURE
OP
Mink
Elite Leader

0

0%

Status

Posts

545

Likes

407

Rep

0

Bits

1,603

3

Years of Service

LEVEL 5
50 XP
तभी मॉम के मोबाइल में पापा का फोन आया और वो कॉल टीवी से ऑटोमैटिक कनेक्ट हो गया.
अब मॉम और पापा, दोनों लाइव थे वीडियो में, पापा ने जेंट्स गाउन पहन रखा था.

फिर पापा बोले- सीमा, तुम्हारी याद बहुत आती है. तुम्हारी जैसी बात यहां की औरतों में नहीं है.
मॉम बोली- फिर जल्दी आ जाओ, आपकी सीमा भी आपके बिना अधूरी है.
पापा बोले- जल्दी ही आऊंगा. अभी अपना काम चालू करते हैं. मुझे फिर ऑफिस जाना है.

फिर पापा ने अपना गाऊन उतार दिया. अब पापा पूरी तरह नंगे थे. लेकिन पापा का लन्ड देख कर तो मेरा दिमाग चकरा गया. बहुत बड़ा और मोटा था. मेरे से बहुत बड़ा था और एकदम सीधा खड़ा था.

अब मॉम ने अपनी नाईटी के आगे का रिबन निकाला और नाइटी को उतार दी. अब मॉम ब्रा और पैंटी में थी। मॉम की सारी ब्रा पैंटी सेक्सी और हॉट ही थी। दोनों का कलर काला था.

मेरा तो यह लाइव वीडियो देख के बुरा हॉल था और मैं खुद भी नंगा हो गया था. मेरा लन्ड तो ऐसे चीजों से जल्दी ही खड़ा हो जाता था.

फिर मॉम ने अपनी ब्रा और पैंटी उतार दी, मेरी मॉम अब पूरी नंगी खड़ी थी.
पापा बोले- सुंदर … अति सुंदर मेरी जान!
फिर मॉम सोफे पर बैठ गई और बोली- मेरे दोनों दूध के डेयरी यानि मेरे दोनों बूब्स में अभी दर्द है और लाल भी बहुत हैं. डॉक्टर ने बूब्स के साथ कुछ दिनों तक कुछ नहीं करने को कहा है।
पापा बोले- अच्छा डार्लिंग।

फिर मॉम ने नकली लन्ड को अपनी चूत में डालना शुरू कर दिया और पापा ने भी अपने लन्ड को नकली चूत में डालना शुरू कर दिया. मॉम आज यह सभी बिना मन के कर रही थी क्योंकि उनकी प्यास तक कल रात को ही बुझ गई थी. वो भी असली वाले लन्ड से!
मॉम सिर्फ पापा की दिखाने के लिए यह नाटक कर रही थी. वो जल्दी जल्दी यह खत्म करना चाहती थी तो उसने नकली लन्ड को अपनी चूत में स्ट्रोक मारना शुरू कर दिया और पापा भी नकली चूत में शॉट मारे जा रहे थे.

पापा की स्पीड तो बहुत तेज थी लेकिन मॉम धीरे धीरे कर रही थी और आवाज भी करनी शुरू कर दी- आ आ आ ह ह ह ई!

5 मिनट में ही मॉम ने नकली लन्ड से अपनी चूत की चुदाई बंद कर दी. मॉम की चूत से पानी नहीं निकला था लेकिन पापा को यह दिखाई नहीं दे रहा था और वो पापा को बोली- मेरा हो गया.
फिर पापा ने अपने लन्ड की नकली चूत से चुदाई बीच में रोक दी, पापा अभी भी संतुष्ट नहीं हुए थे.
उन्होंने कहा- सीमा डार्लिंग, आज जल्दी ही झड़ गई हो. लेकिन संतुष्ट हो गई ना?
मॉम बोली- हां आज थोड़ी थकी हुई हूं इसलिए जल्दी हो गया. लेकिन आपका नहीं हुआ अभी तक, सॉरी!

पापा बोले- अरे सॉरी की जरूरत नहीं है सीमा, मैं तो तेरे लिए कर रहा था मेरे लिए यहां पर बहुत सारी चूत तैयार रहती हैं.
फिर पापा बोले- अच्छा सीमा, अभी वीडियो कॉलिंग डिस्कनेक्ट करता हूं. मुझे ऑफिस जाना है. अपना और अर्जुन का ध्यान रखना.
और दोनों तरफ से ‘बाय बाय लव यू.’ कहकर वीडियो कॉलिंग डिस्कनेक्ट हो गई.

मैंने फटाफट अपने कपड़े पहन लिए और लैपटॉप में देख रहा था मॉम भी अपनी ब्रा पैंटी पहन रही थी फिर उन्होंने अपनी नाइटी भी पहन ली और नकली लन्ड को लेकर अपने बेडरूम की चली गई फिर मैंने लैपटॉप बंद कर दिया और अपने बेड पर सोने का नाटक करने लग गया क्योंकि मॉम नकली लन्ड को अपने कमरे में रखकर मेरे कमरे में आयेंगी.

ऐसा ही हुआ … मॉम मेरे रूम का दरवाजा खोल कर अंदर आई और बोली- बेटा, सो गया क्या?
मैं आँखें खोलकर बेड पर बैठकर बोला- नहीं मॉम, ऐसे ही लेटा था. आपकी बात हो गई पापा से?
मॉम वही नाइटी में थी. मॉम बोली- हां हो गई बेटा, तू अभी हॉल में टीवी बंद कर दे और पढ़ाई कर! फिर मैं भी रात का खाना बना देती हूं. फिर मैं भी हॉल में आती हूं.

मैंने ड्रॉइंग हॉल में टीवी को बंद कर दिया और अपने मोबाइल का कैमरा भी और अपनी कॉलेज की बुक्स लेकर हॉल में ही पढ़ाई करने लगा.

करीब एक या डेढ़ घंटे बाद मॉम हॉल में आई और बोली- बेटा खाना बना दिया, तू टेबल पर आ जा, खाना खा लेते हैं.
फिर रोज की तरह हम दोनों मां बेटे ने रात का खाना आया. फिर मॉम रसोई चली गई फिर थोड़ी रसोई का काम निपटा के हॉल में आ गई.

मैंने पूछा- मॉम, पापा से कैसी बात हुई?
मॉम बोली- वैसी जैसी रोज होती है … कुछ खास नहीं! वो तेरी और मेरी फिक्र करते रहते हैं.

फिर मॉम के मोबाइल पर उनकी सहेली रेशमा का कॉल आ गया और दोनों के बीच औरतों वाली बातें शुरू हो गई.
मैं भी अपने मोबाइल में चैटिंग में व्यस्त हो गया.

आधे घंटे बाद मॉम और रेशमा की बात खत्म हुई.
फिर मॉम बोली- बेटा मैं नहाने जा रही हूं. थोड़ा फ्रेश महसूस करूंगी.
मैं बोला- ओ.के. मॉम!
मॉम अपने कमरे में चली गई.

मैं समझ गया था कि मॉम अपनी चूत को साफ करना चाहती थी, पापा के कारण गंदी हो गई थी.
मेरी इच्छा तो मॉम के साथ नहाने की थी लेकिन ज्यादा जल्दबाजी करने से सब काम खराब हो सकता था.

थोड़ी देर बाद मॉम की कमरे से आवाज आई- अर्जुन बेटा, बेडरूम में आ जा!
मैं बेडरूम में गया. वहां मॉम ड्रेसिंग टेबल के सामने अपने बाल बना रही थी. उन्होंने वही दोपहर वाला टाईट टी शर्ट जैसा लेडीज बनियान और लेडीज सेक्सी हाफ पैंट पहन रखी थी.

मैं बेड पर बैठ गया और मॉम को बाल बनाते देख रहा था. मॉम तो मॉम ही थी … पूरी तरह सेक्सी गुड़िया नजर आ रही थी. नहाने के बाद तो और भी कड़क और मलाई माल नजर आ रही थी.
फिर मॉम बाल बनाकर मेरे पास बेड पर आकर बैठ गई और मेरे गाल को प्यार से हल्का खींच के बोली- क्या हॉल है मेरे बेटा जी का? मॉम से नाराज़ तो नहीं?
मैं बोला- नहीं मॉम, मैं क्यों आपसे नाराज़ होऊंगा, आप जैसी मॉम तो किस्मत वालों को मिलती है.
मॉम मेरे जवाब से मुस्कराई और बोली- गुड बेटे!

फिर वो बोली:
बेटे, आज पूरे दिन मैंने तेरी परीक्षा ली थी. तेरा मेरे प्रति, मेरे सेक्सी शरीर के प्रति और तेरी वासना के प्रति कंट्रोल देखना चाहती थी. और उसमें तू पूरा पास हो गया.
तू मेरा गुड बेटा है. अगर तेरी जगह कोई दूसरा लड़का होता, वो भी एक अकेली सेक्सी औरत के साथ रहता होता और मेरे जैसी सेक्सी क्वीन और सेक्सी हॉट फिगर वाली औरत की देख कर वो कंट्रोल नहीं कर पाता और सुबह से अब तक जबरदस्ती मेरी चुदाई कर लेता, मेरे चूत को फ़ाड़ देता और बूब्स को चूस चूस के सुजा देता.
लेकिन तू तो एक सगे बेटे से भी ज्यादा मेरा ध्यान रखता है, मेरी भावनाओं का सम्मान करता है, मुझे प्यार करता है. तेरे पापा से भी ज्यादा तू मुझे प्यार करता है. मेरे शरीर के अंगों का ध्यान रखता है. बेटा एक बड़ी बात और बोलूंगी कि मेरे दिल में तेरे पापा से भी ज्यादा तेरे लिए प्यार हो गया है. आई लव यू बेटा!

यह कह कर मॉम ने भावुक होकर मुझे बांहों में भर लिया और मेरे सर पर, गाल पर और होंठ पर ममता वाली किस और चुम्बन दिया. मैं भी बड़ा प्रसन्न और खुश था … मॉम की बातें सुनकर थोड़ा मैं भी भावुक हो गया था कि मैं मॉम की परीक्षा में मैं पास हो गया.

ये तो सिर्फ मैं ही जानता था कि मैंने आज पूरे दिन कैसे कंट्रोल किया और कैसे अपनी हवस और उत्तेजना पर काबू रखा.
कोई बात नहीं … आखिरकार मेहनत रंग लाई।

अब मॉम ने मुझसे अपने आप को अलग किया और बोली- बेटा टैबलेट खा ले. मैंने तो स्प्रे की डबल डोज चूत पर लगा दी है.
मैंने टैबलेट की बोतल से टैबलेट निकाली और बोला- मॉम कितनी लूं? डबल लूं?
मॉम बोली- बेटा, डबल से पूरी रात प्रोग्राम चलेगा, मेरी तो हालत खराब हो जाएगी. लेकिन तुझे अब सब छूट है, डबल ले ले … तेरे पापा तो ट्रिपल भी लेते थे.

फिर मैंने टैबलेट की डबल डोज पानी के साथ ले ली.
मॉम बोली- आज जो करना है तू कर अपने हिसाब से, जैसी पोजिशन में करना है कर, तेज धीरे जैसे भी करना है कर … मैं कुछ नहीं बोलूंगी और मैंने अपने स्तनों के दर्द के लिए पैन किलर गोली ली हुई है अब पूरी रात बूब्स में कोई दर्द नहीं होगा.

मैं बोला- थैंक्स मॉम!
फिर मैंने मॉम का खड़ा होने को बोला. वो खड़ी हो गई, मैंने मॉम का बनियान उतार दिया. अब मॉम काली सेक्सी ब्रा में थी. फिर मैंने ब्रा भी अपने हाथ से उतार दी. अब मॉम के शांत बैठे दो बड़े वाले स्तन आजाद हो गए थे. आज बूब्स थोड़े लाल काम थे लेकिन सेक्सी और हॉट तो जबरदस्त थे.

मॉम की हाइट मेरे जितनी ही थी इसलिए खड़े खड़े बूब्स चूसने और दबाने में मुझे तकलीफ़ होती तो मैंने मॉम को पलंग पर पालथी मार के बैठने को बोला.
मॉम बैठ गई.
फिर मैं एक छोटे दूध पीते बच्चे की तरह पलंग पर लेटकर अपना मुंह मॉम की गोद में ले गया और बोला- मेरी प्यारी मॉम, अब आपका बेटा आपका दूध पियेगा!
मॉम मुस्करा के बोली- पी लीजिए बेटा जी, मॉम की दूध की डेयरी आपके लिए खुली है.

मैंने मॉम के एक बूब को अपने मुंह में लगा दिया और छोटे बच्चे की तरह निप्पल चूसने लगा, मॉम भी सपोर्ट कर रही थी. मैं बूब्स को भींच कर चूस रहा था. मुझे तो असीम आनंद की प्राप्ति हो रही थी. दूध तो नहीं आने वाला था.

फिर मैंने दूसरे बूब को मुंह में ले लिया. मॉम को भी मज़ा आ रहा था. मॉम के बूब्स का वजन बहुत था. मेरा मुंह पर दबाव बना रहे थे लेकिन मुझे तो चूसने में मज़ा आ आ रहा था. मेरा लन्ड तो पहले से खड़ा था और टैबलेट लेने के बाद तो आग की रॉड बन गया था.

मॉम ने बैठे बैठे ही मेरी हाफ पैंट और अंडरवियर उतार दी और मेरा लन्ड बाहर आ गया.
मॉम बोली- मस्त बेटा … आज तेरा सामान बहुत बड़ा नजर आ रहा है.

मैं तो मॉम के बूब्स पर टूटा हुआ था. मैंने अब स्पीड बड़ा दी और ज़ोर से एक एक करके दोनों बूब्स को चूसे जा रहा था और ज़ोरदार भींच भी रहा था. मॉम हल्की हल्की आवाज़ कर रही थी. मॉम मेरे लन्ड का बैठे बैठे अपने हाथ से खेलना चाहती थी लेकिन मैंने मॉम के हाथों को रोक रखा था.

20 मिनट के बाद मैंने दोनों बूब्स को जमकर चूस लिया था भींचा भी जबरदस्त था.
 
Mink's SIGNATURE
OP
Mink
Elite Leader

0

0%

Status

Posts

545

Likes

407

Rep

0

Bits

1,603

3

Years of Service

LEVEL 5
50 XP
अब मैं उठा और मॉम को सीधा लेटा दिया और बोला- मॉम, अभी मैं जो करूंगा उससे आप गुस्सा मत होना और दर्द हो तो मना कर देना, मैं फिर रोक दूंगा.
मॉम बोली- बेटा तू कुछ भी कर, मैं कुछ नहीं बोलूंगी.

फिर मैंने पलंग पर बैठे बैठे मॉम के दोनों बूब्स को ज़ोर से ऊपर की ओर खींचने लगा जैसे रबड़ को खींचते हैं. बहुत बड़े थे बूब्स और सॉफ्ट भी बहुत थे.
मॉम की हल्की चीख निकल रही थी ‘आह ओह उह आह आ …’ लेकिन मॉम मना नहीं कर रही थी.

मैंने फिर पूछा- मॉम रुक जाऊं या चालू रखूँ? आपको अच्छा लग रहा है?
मॉम बोली- चालू रख … मज़ा आ रहा है … दर्द तो थोड़ा होता ही है. तेरे पापा का तो यह रोज का था, इन बूब्स को इतना खींचते थे कि मैं खुद बूब्स के साथ उठ जाती थी.
यह सुनकर मैंने थोड़ी तेजी से बूब्स को खींचना शुरू किया, मैं एक एक करके बूब्स को खींच रहा था.

फिर मैंने मॉम के होंठों पे अपने होंठ चिपका दिए जिससे मॉम की आवाज़ भी बंद हो गई और मॉम को मस्त जबरदस्त चुम्मा दे रहा था. मॉम के मीठे, गुलाबी, मोटे और कोमल होंठों को मैंने अपने मुंह में ले लिया था. मॉम को मज़ा आ रहा था.

इधर मेरे हाथों से मॉम की बूब्स खींचने का कार्यक्रम जारी था. 15 मिनट बाद यह प्रोग्राम समाप्त हुआ. मॉम के निर्दोष दोनों खरबूजे मेरे बेहरम हाथों से आजाद हुए और मॉम के मलाई से भी ज्यादा कोमल दोनों होंठ मेरे कठोर होंठों से आजाद हो गए थे.

अब मॉम ने थोड़ी राहत ली, मॉम हल्की थक गई थी. फिर मैंने मॉम का मूड बनाने और खुश करने के लिए उनके एक बूब्स को उनके मुंह में डालने की कोशिश की और मैं सफल हो गया. मॉम के बूब्स उनके मुंह में जा रहे थे.
मैं बोला- मॉम आपके बूब्स तो आपके मुंह तक जा रहे हैं. यह तो चमत्कार है.
मॉम बोली- बड़े बूब्स वाली औरतें के बूब्स उनके मुंह तक जाते हैं. और मेरे तो बड़े तो है ही साथ में लंबे नुकीले हैं.

फिर मैं बोला- चूसोगी अपने बूब्स को?
मॉम बोली- हां बेटे चूसूंगी. मैं अपने हाथ से अपने बूब्स अपने तक नहीं ले जा सकती थी. तेरे पापा ने एक दो बार ऐसा किया लेकिन उन्हें तो खुद चूसने से फुर्सत मिले तो मेरे लिए कुछ करें ना!

फिर मैं एक एक करके मॉम के स्तनों को खींच खींचकर उनको मुंह तक ले गया और मॉम ने अपने रसीले होंठों से चूसना शुरू कर दिया. मॉम की चूचियों की निप्पल बड़ी थी तो वो आराम से मॉम के मुंह में पहुंच रही थी. बाकी पूरे बूब्स तो नहीं पहुंच सकते थे.

मॉम अपनी स्तन की बड़ी बड़ी काली निप्पलों को छोटे बच्चों की तरह चूसे जा रही थी. मॉम के चेहरे पर रौनक आ गई थी क्योंकि मॉम को स्तन अच्छे लगते हैं.
15 मिनट तक मैं मॉम को उनके स्तन चूसाता रहा. मॉम बहुत एन्जॉय कर रही थी. फिर यह सेशन भी मैंने खत्म किया.

मैंने अपना टी शर्ट अब उतार दिया, अब मैं पूरी तरह से नंगा था लेकिन मॉम की हाफ पैंट अभी तक नहीं उतारी थी. मैंने जानबूझकर, क्योंकि चूत और गांड देखकर, बूब्स चूसने और खेलने का मज़ा चला जाता.

अब मैंने सोचा आज तो रात भर यह चुदाई, खिंचाई और गांड मरवाई का प्रोग्राम तो चलता रहेगा, मॉम को थोड़ा और खुश करता हूं.

मैंने मॉम के पेट के साथ खेलना शुरू कर दिया, पेट पर नाभि में जीभ डालकर चाटने लग गया. मॉम को मज़ा आने लगा, मॉम का पेट तो इतना गोरा और चिकना था कि मेरी जीभ भी फिसल रही थी. मैं मॉम का पेट मस्त चाट रहा था और साथ चुम्मा भी दे रहा था. मॉम का खुशी और उत्तेजना से बुरा हॉल हो रहा था, वो अपने दोनों हाथों से अपने बूब्स दबाए जा रही थी.

मैं 10-12 मिनट तक यह करता रहा. फिर मैंने मॉम की सेक्सी हाफ पैंट उतार दी. अब मॉम काली पैंटी में थी, वो भी जालीदार थी.
मैंने मॉम की पैंटी भी उतार दी.

मॉम को लगा कि अब मैं चूत को चाटूंगा, उंगली से चूत को खोदूँगा, या मुंह से चूत के अंदर के दाने को काटूंगा और गांड को मसलूंगा.
लेकिन मेरा इरादा कुछ दूसरा था.
मॉम पहले से ही गर्म हो चुकी थी और मैंने ऐसा इंटरनेट पर पढ़ा था कि जब औरत एक बार गर्म हो जाए तो चूत में लन्ड डालने में देरी नहीं करनी चाहिए. सही समय पर लन्ड को चूत के अंदर प्रवेश कर लेना चाहिए जिससे चुदने वाली औरत खुश हो जाती है और आगे चुदाई में पूरा सहयोग करती है.

मैंने ऐसा ही किया. मैं मॉम के दोनों पैरों के सामने बैठ गया और उनके दोनों पैरों को अपने कंधों पर रख लिया जिससे मॉम की आधी गांड, चूत और कमर थोड़ी उपर उठ गई, जिससे मेरे लन्ड को मॉम की चूत तक जाने का रास्ता साफ दिखाई देने लगा.

अब मुझे चूत एकदम साफ दिख रही थी. मैंने बिना रुके सीधा मेरा लन्ड मॉम की चूत में बुलेट ट्रेन की स्पीड जैसे डाल दिया.
मॉम की चीख निकली- उम्म्ह… अहह… हय… याह… आआए आई हह ओ!
मेरे इस कदम से मॉम चकित हो गई और मन ही मन में खुश हो रही थी क्योंकि उन्हें अभी चुदाई की जरूरत थी. मॉम की पता नहीं चला कि मैं यह करने वाला हूं.

मुझमें टैबलेट का असर तो था ही … मैं अब धमाधम अपने लन्ड के शॉट मॉम की चूत में मारे जा रहा था.
मॉम की सिसकारियां चालू हो गईं थी क्योंकि मेरा लन्ड पूरा मॉम की चूत में जा रहा था, चूत के अंदर के बीज से टकरा रहा था और लन्ड भी सख्त हो गया था एकदम लोहे की रॉड की तरह. इसलिए मॉम को दर्द भी हो रहा था और एंजॉयमेंट भी हो रहा था।

लन्ड और चूत के एनकाउंटर का साउंड भी आ रहा था धक धक धक! मेरा लन्ड मॉम को चोदे जा रहा था और साथ में मेरे दोनों हाथ वापस मॉम के बूब्स पर चले गए. मैं उत्तेजना की चरमसीमा पर पहुंच गया था, ताकत बहुत आ गई थी मुझमें!

मैंने दोनों हाथों से मॉम के बूब्स को मसलने शुरू कर दिए. निप्पल पर च्यूंटी काटने लग गया.
मॉम की आवाजें ‘आह आह आई …’ चालू थी.

एक तरफ मॉम के शरीर के नीचे वाले पार्ट में से दर्द और मस्ती में हाई स्पीड चुदाई चल रही थी. दूसरी तरफ मॉम के शरीर के बीच वाले पार्ट में दूध के दोनों बड़ी डेयरी से मेरे दोनों हाथ दूध निकालने में लगे हुए थे.
मुझे मॉम के स्तनों में बहुत मज़ा आ रहा था क्योंकि ये इतने बड़े, सॉफ्ट, गोरे, चिकने और एकदम साफ सुथरे हैं.

फिर मैं बोला- मॉम कोई दर्द तो नहीं हो रहा है? चालू रखूं ना?
मॉम बोली- हां, चालू रख … मज़ा आ रहा है. आज तेरा लन्ड कल से भी ज्यादा कड़क और कठोर हो गया. तूने सही समय पर चुदाई शुरू की, मुझे जरूरत हो भी रही थी.

15-20 मिनट तक यह करने के बाद मैंने चुदाई और बूब्स दबाने बंद कर दिए और फिर मैंने कुछ दूसरा सोचा. क्योंकि आज हम लोग इतना जल्दी झड़ने वाले तो थे नहीं. और आज सब मेरी ही चल रही थी. मैं मॉम पर हावी था और उनके ऊपर मैं ही था.

मैं थोड़ी देर रुक गया और बेड पर बैठ गया और बोला- मॉम थकावट हो गई आपको?
मॉम बोली- हां थकावट तो है.
मैंने कहा- 10 मिनट को ब्रेक लेते हैं. तब तक दोनों में एनर्जी आ जाएगी.
मॉम बोली- गुड बेटा!
फिर मॉम भी पलंग पर तकिए का सहारा लगा के बैठ गई।

मैं बोला- मॉम, ये लेडीज किट्टी पार्टी में सैक्स वगेरह की बातें होती हैं क्या?
मॉम बोली- हां, होती हैं ना! एक दूसरे के पर्सनल लाइफ के सैक्स के बारे में! मज़ा आता है किसके पति ने कितने मिनट तक चोदा, ऐसी थोड़ी बहुत हल्की फुल्की बातें होती हैं.

मैंने पूछा- मैंने सुना है कि किटी पार्टी सैक्स गेम भी होते हैं?
मॉम बोली- हां होते हैं. लेकिन हमारी वाली पार्टी में नहीं होते हैं क्योंकि कुछ पुराने ख्यालात वाली औरतें भी हैं. कुछ मेरी तरह संस्कारी भी … जो ऐसे कामों से दूर ही रहती हैं. लेकिन ऐसे गेम खेलने में कोई बुराई भी नहीं है क्योंकि हैं सब औरतें ही ना!

मैं बोला- मॉम, आपने आपकी तरह सेक्सी फिगर वाली औरत के शरीर को टच किया है?
मॉम बोली- हमारे ग्रुप में 5-6 औरतों का फिगर मेरा जैसा है या मेरे से भी अच्छा है. मतलब मान ले वो सभी खूबसूरत और सेक्सी फिगर वाली हैं. लेकिन मैंने केवल मेरी बेस्ट फ्रेंड रेशमा के बूब्स और गांड को बाहर से टच किया है और उसने भी मेरे बूब्स और गांड को टच किया है. बस इतना ही हुआ है.
मैं बोला- वाउ … गुड मॉम!

फिर मैं बोला- मॉम यह औरत के बूब्स से दूध औरत से बच्चा होने के बाद ही निकलता है. और कोई तरीका नहीं है क्या?
मॉम हंस के बोली- हां बच्चे होने के बाद ही औरत के स्तन में दूध बनना शुरू होता है. और कोई तरीका नहीं है. लेकिन तेरे पापा बोले रहे थे वो इस बार अमेरिका से कोई इंजेक्शन लेकर आएंगे
और वो इंजेक्शन बूब्स पर लगाने के कुछ समय बाद थोड़ा दूध आ सकता है.

मैं बोला- मॉम फिर तो मज़ा आ जाएगा.
मॉम बोली- हां बेटा, तेरे पापा मेरा दूध निकाल कर ही रहेंगे.

अब हम लोगों में एनर्जी आ गई थी. मैं पलंग पर खड़ा हो गया और मॉम के पास अपना लन्ड लेकर गया, बोला- मॉम, अभी इसे आपके गले तक पहुंचा देता हूं.
मॉम कुछ बोलती, उससे पूर्व ही मैंने अपना लन्ड मॉम के मुंह में डाल दिया और शॉट मारना शुरू कर दिया.

पता नहीं मॉम को यह अच्छा लग रहा था कि नहीं लेकिन खड़े खड़े मॉम के मुंह में शॉट मारे जा रहा था. 10-12 मिनट तक मॉम के मुंह को अपने लन्ड से चोदने के बाद मैंने यह बंद किया.
मॉम का बुरा हाल था तो मैंने पूछा- मॉम आपको यह अच्छा नहीं लगा?
मॉम बोली- नहीं … ठीक था. तेरे पापा तो तगड़ा और गहरा गले तक डालते हैं. कई बार तो मुझे उल्टी आ जाती है.
मैं बोला- पापा तो बेहरम इंसान हैं. मैं तो वो ही करूंगा जिससे आपको खुशी हो. अभी बताइए आगे क्या करूँ?
मॉम बोली- थैंक्स बेटा, आगे जो तुझे अच्छा लगे, वो कर!
मैं बोला- ओके मॉम!

फिर मैंने मॉम को घोड़ी जैसे पलंग पर उनके घुटनों के सहारे बैठा दिया. मॉम को लग रहा था अब मैं घोड़ी स्टाईल में मॉम की चूत चोदूंगा. लेकिन मेरा इरादा कुछ और था, मैंने फटाफट ड्रेसिंग टेबल पर पड़े तेल को अपने लन्ड पर लगाया और मॉम की गोरी चिकनी गांड के छेद में अपना डालना शुरू कर दिया.

पहला शाट में लन्ड पूरा गया नहीं … लेकिन दूसरे झटके में लन्ड पूरा, मॉम की गांड चला गया.
और इधर मॉम की ज़ोरदार चीख निकली.
मैं धमाधम गांड में लन्ड के शॉट मारने लग गया और मॉम के बूब्स झूल रहे थे आगे और पीछे! मॉम की आवाज ज्यादा नहीं आ रही थी क्योंकि उनको तो पापा के साथ यह सब करने का अनुभव तो था ही!

मॉम की गांड की मस्त चुदाई हो रही थी. मुझे बहुत मज़ा आ रहा था. मॉम को ज्यादा मज़ा नहीं आ रहा होगा क्योंकि दर्द भी हो रहा होगा उनको!

फिर मैंने अचानक अपने लन्ड को मॉम गांड की गांड में 2 मिनट के लिए रोक दिया, बाहर निकाला ही नहीं
मॉम को ज़ोरदार दर्द हुआ, मॉम बोली- बेटा, निकाल … दर्द हो रहा है.
मैंने अपनी स्टेप मॉम की गांड से अपना लंड निकाल लिया.

फिर मैंने मॉम की गांड की चुदाई बंद कर दी और उन्हें उल्टा ही लेटा दिया मतलब गांड और कमर मेरे सामने रखी. अब मैंने मॉम की गर्दन से कमर तक मॉम को अपनी जीभ से चाटना और चूमना शुरू किया.
ऐसा लग रहा था जैसे रबड़ी चाट रहा हूं मैं.
मॉम की कमर तो एकदम लाजवाब थी गोरी, चिकनी और एकदम साफ थी. एक दाग भी नहीं था.

ऐसे करते करते मैं मॉम की बड़ी, तगड़ी और कोमल गांड तक पहुंच गया, गांड को ज़ोर से और तेज तेज चाटने लगा. मॉम को गुदगुदी हो रही थी, मज़ा भी उनको आ रहा था. मॉम के स्तन पलंग पर चिपक गए थे.

तब मैं मॉम की गांड के छेद में भी जीभ डालकर चाटने लग गया. फिर अपनी हाथों की उंगली, मॉम की गांड के छेद में डालकर उंगली से कुछ शॉट मारे. मैंने मॉम की गांड को अपने दांतों से भी 3-4 बार हल्के से काटा.
मॉम की प्यारी से चीख आ रही थी, वो एंजॉयमेंट भी ले रही थी.

मैं 15 मिनट तक मॉम की मक्खन गांड के साथ खेलता रहा. अभी मैं थक गया था और झड़ भी नहीं पा रहा था. शायद मॉम भी थक चुकी थी.
मैंने मॉम को बोला- मॉम एक बार दोनों झड़ जाते हैं. मैं भी थक गया हूं और आप भी!
मॉम बोली- हां बेटा, थक गई हूं मैं!

फिर मैं लेट गया और मेरा लन्ड बिजली के खंबे की तरह सीधा खड़ा था. मैं मॉम को बोला- मॉम, अब आप मेरे लन्ड पर अपनी चूत को बैठा दो और ऊपर नीचे होके झटके मारो.
मॉम समझ गई थी. मॉम ने मेरे लन्ड पर चूत डाल दी और मेरी जाँघों पर बैठकर ऊपर नीचे होने लगी. इससे मुझे थोड़ा दर्द हो रहा था लेकिन लन्ड मॉम की चूत की बहुत गहराई तक जा रहा था.
मेरी मॉम को भी दर्द हो रहा था लेकिन चुदाई भी बिना दर्द के थोड़े ही होती है.

मॉम ने अपनी स्पीड तेज कर दी थी, वो वासनाओं में डूब गई थी, सैक्स की चरमसीमा में पहुंच गई थी जहां पर हर औरत अपनी चूत से जल्दी जल्दी पानी निकालना चाहती है. मेरा शेर लन्ड मॉम की चूत को खोदे जा रहा था.

इसी बीच मैंने लेटे लेटे ही अपने दोनों हाथ मॉम की छाती पर लटक रहे दो बड़े खरबूजों रूपी बूब्स पर टिका दिया और मसलने शुरू कर दिए क्योंकि मॉम के बूब्स मेरी सबसे बड़ी कमजोरी है.
मुझे चूत नहीं मिलती तो चल जाता लेकिन मॉम के गोरे, चिकने, दूध के भंडार रूपी स्तनों के बिना मेरा काम नहीं चलता.

मॉम अपनी चूत मेरे लन्ड में घुसाई जा रही थी और दूसरी ओर मैं मॉम के बूब्स को ज़बरदस्त भींचे, दबाएं और च्यूंटी काटे जा रहा था.
यह प्रोग्राम 15 मिनट करीब चला. फिर मॉम बोली- बेटा मेरा होने वाला है.
और ऐसा कहकर उन्होंने अपने चूत को मेरे मुंह के ऊपर लाकर बैठा दिया.

मॉम का रबड़ी जैसा सारा मीठा, टेस्टी पानी मेरे मुंह में आ गया. मैंने चाट चाट के सारा पानी पी लिया.

फिर मॉम धड़ाम से मेरे साथ बेड पर लेट गई क्योंकि उनका काम हो गया था, मस्त संतुष्टि मिल गई थी पर मैं अभी झड़ नहीं पा रहा था. टैबलेट की डबल डोज महंगी पड़ गई थी मुझे!
मॉम लेटे लेटे बोली- बेटा चिंता मत कर … तुझे अभी झड़ा देती हूं मैं!

फिर मॉम बेड पर बैठ गई अपने हाथ से मेरे लन्ड से मुठ मारने लग गई, वो भी बहुत तेज गति से. मेरा हाल बुरा था. मॉम को तो मज़ा आ रहा था … वो मेरे लन्ड के साथ खेल रही थी, वो भी एकदम स्पीड में!

और मेरे मुंह से आवाजें निकल रही थी- आ उ च आ आऊच मॉम धीरे आउच आ ई!
लेकिन मॉम तो अपनी मस्ती में थी. उनको इसका भी अनुभव था कि लन्ड के साथ कैसे खेलें और लन्ड को कैसे झड़ावे.

आखिरकार मेरे झड़ने का सिग्नल आ गया तो मैंने मॉम को बोला- मॉम झड़ रहा हूं.
तो मॉम ने अपने मुंह में मेरा लन्ड ले लिया और मेरा एकदम शुद्ध सफेद गाढ़ा वीर्य मॉम के मुंह में चला गया. और मॉम ने गटक के चाट के सारा पी लिया.

अब वो मेरे बाजू में लेट गई और मैं तो लेटा हुआ था ही!

हम दोनों मान बेटा थक गए थे. काफी लम्बा रहा यह चुदाई सैक्स का कार्यक्रम.
फिर मॉम लेटे लेटे ही बोली- बेटा मज़ा आ गया, मस्त संतुष्टि मिल गई.
मैं बोला- हां मॉम, बहुत एंजॉयमेंट रहा.

फिर मैं बोला- मॉम आप बहुत ही खूबसूरत हो, हॉट और सेक्सी हो, आपके शरीर का एक एक अंग भगवान ने बहुत ही प्यार से बनाया है.
मॉम हल्के से हंसके बोली- थैंक यू बेटा!

रात बहुत हो गई थी, हम दोनों थक चुके थे इसलिए जल्दी हम दोनों को नींद आ गई थी और हम दोनों मॉम बेटा नंगे ही बेड पर सो गए.

दोस्तो, इस तरह इस सत्य घटना का माँ बेटे की चुदाई की कहानी का यहीं अंत होता है.
 
Mink's SIGNATURE
Member

0

0%

Status

Offline

Posts

233

Likes

130

Rep

1

Bits

633

1

Years of Service

LEVEL 10
XP
मेरा नाम अर्जुन है, मैं 19 साल का हूँ, मैं अपने पापा और सौतेली मां के साथ दिल्ली में रहता हूं. मेरे पापा विदेशी कंपनी अमेरिका में बड़े ऑफिसर के पद पर काम करते हैं इसलिए उनकी आय बहुत अच्छी है. दिल्ली में हम बहुत हाई प्रोफ़ाइल बिल्डिंग सोसायटी में रहते हैं. पापा हर 3 महीने में भारत आते हैं और 10-12 दिन रुक कर वापस चले जाते हैं.

मेरी सगी माँ और पापा का कुछ महीनों पहले तलाक हो गया था. मेरी एक सगी बड़ी बहन भी है. तलाक के बाद मेरी सगी मां ने दूसरी शादी कर दी थी. मेरी बड़ी बहन मेरी मां के साथ रहती है और मैं पापा के साथ!

तलाक के कुछ दिन बाद मेरे पापा ने दूसरी शादी कर दी थी. मेरे पापा दिखने में स्मार्ट और यंग दिखते हैं और पैसे वाले भी हैं इसलिए एक मध्यम परिवार ने पैसों के लालच के कारण अपनी जवान और खूबसूरत लड़की की शादी मेरे पापा से कर दी.

मेरी सौतेली माँ का नाम सीमा है. वो बहुत गौरी, भरे भरे बदन वाली है. वो 27 साल की है. वह काफी पढ़ी लिखी और दिखने में संस्कारी औरत है. शादी के बाद वो अपने बेटे की तरह मेरा ख्याल रखती थी.

मेरे पापा काफी सेक्सी हैं, शादी के बाद कुछ दिन तक उन्होंने सीमा के साथ बहुत मज़े किये। मैं रात को उनके बेडरूम में चोरी छुपे देखा करता था और सीमा की हल्की चीखने की आवाज भी सुनाई देती थी. मैं पोर्न नंगी वीडियो देखा करता था तो मुझे सेक्स के बारे में काफी कुछ पता था.

शादी के कुछ दिन बाद मेरे पापा को उनके ऑफिस अमेरिका में जाना पड़ा तो वो अकेले ही चले गए थे. अभी मैं और सीमा अकेले ही घर में रह रहे थे. मेरे पापा करीब 3 महीने बाद ही आने वाले
थे.

धीरे धीरे मैं और सीमा अच्छे दोस्त बन गए थे. मैं उसको मॉम कहकर बुलाता था. वह मुझे अजू कहकर बुलाती थी. वो थी तो मेरी सौतेली मां … लेकिन मुझे तो एक सेक्सी और हॉट औरत लगती थी. मैं उसको सपनों में नंगी देखा करता था और अपने लन्ड का वीर्य निकालता था.

एक दिन जब वो घर से बाहर गई हुई थी, तब मैं उसके बेडरूम में उसकी अलमारी से उसके ब्रा पैंटी देखने लगा. ब्रा 38डी साइज की और बड़ी ही सेक्सी थी और पैंटी भी काफी सेक्सी और बड़ी थी. यह सब देखकर मेरा लन्ड खड़ा हो गया. ब्रा की साइज से मैं सीमा के स्तनों का अंदाजा लगा रहा था. मतलब सीमा के बूब्स बहुत बड़े होंगे. और गान्ड भी तरबूज जैसे बड़ी मस्त और मोटी होगी.

इन सब से मेरा लन्ड बहुत बड़ा और सख्त हो गया था. मुझे अब मॉम को नंगी देखने और चोदने की इच्छा हो रही थी.

फिर मैंने अलमारी में जो देखा, उससे मेरा दिमाग चकरा गया. अलमारी के खाने में 2 विदेशी वाइब्रेटर वाले आर्टिफिशियल लन्ड पड़े थे जैसे मैं पोर्न वीडियो में देखा करता था. विडियो में नंगी लड़कियाँ अपनी चूत में डाल कर अपनी सैक्स संतुष्टि प्राप्त करती थी.
और एक पंप मशीन भी पड़ी थी जिससे औरतों को अपने स्तनों को दबाने में काम में लेती थी.

मैं चकरा गया कि मॉम यह सब रखती है और इस्तेमाल भी करती होगी. ऐसे तो बड़ी संस्कारी बनती है.
मेरे चेहरे पर वासना वाली मुस्कान आ गई थी. अब मुझे अपना सपना सच्चा होते हुए दिख रहा था.
मैंने वो सारा सामान वापस अलमारी में रखा और बाथरूम में जाकर मॉम को याद करके एक तगड़ी मुठ मारी और सारा माल बाहर निकाल दिया.

अब मैं मॉम सीमा को चोदने का तरीका सोचने लगा.

दूसरे दिन रात को मैं और मॉम हाल में टीवी देख रहे थे. मॉम ने टाइट टॉप और टाइट लेगीज पहनी हुई थी, उसके टॉप से दो बड़े खरबूजे (स्तन) बाहर निकल रहे थे. साइज़ तो 38 की थी ही और
उसके पीछे की गान्ड भी बहुत बड़ी और गोल थी, वो भी बाहर निकल रही थी.

मैं हाफपैंट में था, मेरे नीचे का सामान एकदम खड़ा हो गया था. मैं अपने आप को काबू नहीं कर पा रहा था. मैं आज किसी भी तरह से मॉम को नंगी देखना और उसकी चूचियो को छूना चाहता था पर हिम्मत नहीं हो रही थी. अगर मॉम ने गुस्सा कर दिया और फोन करके पापा को बता दिया तो मेरा हाल बुरा हो जाएगा.

तभी मेरे दिमाग में एक तरीका आया, मैं बोला- मॉम, टीवी से बोर हो रहा हूं, कोई अच्छा प्रोग्राम भी नहीं आ रहा है.
मॉम बोली- अजु सही कह रहा है तू, कुछ खास नहीं आ रहा है आज!

फिर मॉम ने टीवी बंद कर दिया और बोली- क्या करें? कैसे टाइम पास करें?
मैं बोला- मॉम बातें करते हैं या फिर ताश के पत्ते खेलते हैं.
मॉम बोली- ठीक है, ताश खेलने के साथ साथ बातें भी कर लेंगे.

मैं अपने कमरे से ताश के पत्ते लाया और बोला- मॉम थोड़ा तीन पत्ती टाइप खेलते हैं. जो जीतेगा वो हारने वाले से कुछ भी पूछ सकता है और कुछ भी करा सकता है. बड़ा मज़ा आएगा मॉम!
मॉम ने 10 सेकंड सोचा और बोली- ठीक है!

मैंने तीन तीन पत्ते बांटे और मॉम जीती. मॉम खुश हो गई और बोली- अच्छा बेटा, बता तू मुझे ज्यादा प्यार करता है या अपनी सगी मम्मी को?
तो मैं बोला- मॉम, जब से आप मेरी मां बन के आई हो, तब से मैं अपनी सगी मां को भूल ही गया हूं. आप जितना मेरा ख्याल और मुझे प्यार करती हो तो ऐसा लगता है कि आप ही मेरी सगी मां हो.
और ऐसा बोलकर मेने अपना चेहरा रोने टाइप वाला भावुक वाला कर दिया.

मॉम मेरा यह जवाब सुनकर बहुत ही भावुक हो गई और मुझे अपने बांहों में ले लिया और मेरे सर पर चुम्बन करके बोली- मेरा प्यारा बेटा अर्जुन.
मॉम के गले लगाने से मॉम के खरबूजे जैसे स्तन मेरे सीने से टच कर रहे थे. मेरा लौड़ा सीधा खड़ा हो गया था.

फिर मॉम मुझसे अलग होकर बोली- बेटा, मैं तुझे कभी दुखी नहीं होने दूंगी.

मॉम ने अगली बाजी के लिए पत्ते बांटे और इस बार वापस मॉम जीत गई और बोली- अच्छा बेटा, हमारी कोई भी आपस की बातें तू अपने पापा को कभी नहीं बोलेगा ना?
मैं बोला- हां मॉम, आप जो बोलोगी, वैसा ही मैं करूंगा और आप भी पापा को मत बोलना.
तो मॉम बोली- नहीं बोलूंगी बेटे!

मॉम के इस जवाब ने मुझे अंदर से बहुत ख़ुश कर दिया और मेरा मॉम को चोदने का जो प्लान था वो सही रास्ते पर जाते हुए दिख रहा था.

फिर इस बार पत्ते मैंने बांटे और मॉम फिर जीत गई और मॉम बहुत खुश हुई और बोली- आज मेरी किस्मत सिकंदर है, मैं ही जीत रही हूं.
मैं बोला- हां मॉम!

फिर मॉम बोली- बेटा तेरा कॉलेज में कोई लड़की वाला चक्कर तो नहीं है ना? मेरा मतलब कोई लवर्स या गर्लफ्रेंड तो नहीं है? पूरा पढ़ाई में ही ध्यान देता है ना! तुझे भी आगे चलकर अपने पापा की तरह बड़ा बनना है.

मैं बोला- मॉम, आपकी कसम, मेरा ऐसा कोई चक्कर नहीं है. मैं इन सब चीजों से दूर ही रहता हूं. मेरा पूरा ध्यान पढ़ाई और अपने फ्यूचर कैरियर पर ही फोकस है.
यह सुनकर मॉम बोली- वेरी गुड बेटे, मुझे तुझ पर गर्व है.

और इस बार मुझे अपनी ओर बुला कर अपनी चौड़ी बांहों में भर दिया और मेरे गाल पर किस कर दिया. मॉम के स्तन दोबारा मेरे सीने में चिपक गए थे और मैं ज्यादा गर्म हो रहा था.
मुझे डर लग रहा था कहीं मेरा लन्ड जवाब नहीं दे दे और मैं अंडरवियर में ही वीर्य ना छोड़ दूँ.

इस बार मैंने भी हिम्मत करके मॉम के गाल हल्का किस कर दिया और मॉम को भी अच्छा लगा.
फिर मॉम अलग होकर बोल- मेरा बेटा प्यारा बेटा!

इस बार मॉम ने पत्ते बांटे और भगवान का शुक्र है कि इस बार मैं जीता. मैं थोड़ी चिंता में पड़ गया कि मैं मॉम से क्या पूछूँ या कराऊँ.
फिर मैंने सीमा मॉम से कहा- मॉम आप नाराज तो नहीं होंगी ना मेरे सवाल से?
मॉम बोली- अरे बेटा, तू कुछ भी पूछ … तुझे सभी छूट है.

मैंने मॉम से पूछा- मॉम आप इतनी खूबसूरत और जवान हो. और इतनी पढ़ी लिखी होकर आपने पापा जैसे 44 साल के तलाकशुदा आदमी के साथ शादी क्यों की, आपसे तो कोई भी जवान और स्मार्ट लड़का शादी कर सकता था.
मॉम मुस्कराकर बोली- तेरी बात सही है बेटे! लेकिन मैंने बचपन से ही एक अमीर आदमी से शादी करने के सपने देखे थे और आराम और हाई प्रोफाइल लाइफ जीने के सपने देखे थे. और तेरे पापा अमीर तो हैं ही … साथ में यंग और स्मार्ट भी दिखते हैं. मेरी ज़िंदगी ऐशो आराम से कटेगी और साथ में तेरे जैसा अच्छा और प्यारा बेटा भी मिल गया. मेरे तो सारे सपने पूरे हो गए.

तब मैं बोला- मॉम, आपने एकदम सही किया है. मैं आपका हमेशा ख्याल रखूंगा.
फिर मैंने हिम्मत करके एक और सवाल पूछ दिया- मॉम आपका कॉलेज की दिनों में कोई अफेयर था क्या?
मॉम मुस्कराई और बोली- नॉटी बॉय … मेरा कोई अफेयर नहीं था लेकिन लड़के लोग मुझ पर लाइन मारने की कोशिश करते रहते थे क्योंकि कॉलेज के दिनों में मैं बहुत ही हॉट और सेक्सी दिखती थी. लेकिन मैंने किसी लड़के को अपने नजदीक तक नहीं आने दिया.

फिर मैं बोला- मॉम आप बहुत अच्छी और बहुत संस्कारी हो. आपको मैं एक बात बताना चाहता हूं कि आप अभी भी बड़ी हॉट और सेक्सी दिखती हो.
तब मॉम ज़ोर से हंस के बोली- थैंक्स बेटा, तेरी बातों से मुझे तेरे पापा की याद आने लग गई.

अब मुझे लगने लग गया कि मॉम भी अंदर से सेक्स की भूखी है.

फिर मैंने पत्ते बांटे और इस बार दोबारा मैं जीत गया और मैं बोला- मॉम, एक पर्सनल सवाल है, पूछ सकता हूं?
तो मॉम प्यार वाले गुस्से में बोली- तुझे एक बार बोला ना बेटा … तू कुछ भी पूछ सकता है और कुछ भी मुझसे करा सकता है. तुझे सब छूट है, तू मेरा इकलौता प्यारा बेटा है.

यह जवाब सुनकर तो मेरे लन्ड जबरदस्त खुशी के मारे अंडरवियर में कूद रहा था. अब मुझमें बहुत हिम्मत आ गई थी- मॉम आपका फिगर बहुत ही हॉट है खास तौर पर आपके ऊपर का फिगर, आपने कैसे संभाल के रखा है?
यह सुनकर मॉम थोड़ी गंभीर हुई फिर हल्की मुस्कराई फिर बोली- देख, मैं बचपन से ही संस्कारी हूं और संस्कारों को मानने वाले परिवार से हूं. लेकिन तू मेरा सौतेला बेटा है तुझे और तेरे पापा को खुश रखना भी मेरे संस्कार में ही है तो सीधा सवाल पूछ?

मैं बोला- ओके मॉम, मेरा मतलब यह है कि आपके बूब्स दिखने में बहुत बड़े दिखते हैं बाहर से और बहुत ही हॉट और सेक्सी दिखते हैं.
तब मॉम बोली- बेटा, मैंने अपने स्तनों को शुरू से ही संभाल कर रखा. और मैंने अपना फिगर भी शुरू से ही मेंटेन करके रखा है. तभी मेरे हिप्स और बैक साइड भी एकदम फिट है. और मैं खुद भी एकदम फिट हूं. और मेरे बूब्स के साइज बड़े हैं 38″ के … और शायद कुछ दिनों बाद 42″ तक पहुंच जाएंगे.

मैं बोला- मॉम, 38″ के 42″ कैसे हो जायेंगे?
तब मॉम बोली- बेटा, जब किसी लड़की की शादी होती है तो शादी के बाद उसके शरीर के कई अंगों में वृद्धि होती है विशेष तौर पर बूब्स और हिप्स में! क्योंकि आदमी औरत जब शारीरिक संबंध बनाते हैं तब परिवर्तन आता ही है. और तेरे पापा तो तेरे पापा हैं, बहुत ही सेक्सी हैं, वो जल्दी ही मेरे बूब्स 42″ या 44″ तक पहुंचा देंगे.
यह बोलकर मॉम शर्म से मुस्कराई और मैं भी मुस्कराया.

फिर मॉम बोली- तुझे ये सब बातें कैसे पता है?
मैं बोला- मॉम, आजकल मेरी उम्र के लोग इंटरनेट पर पोर्न वीडियो देखते है उसमें सब दिखता है.

मॉम सेक्स विडियो की बात पर थोड़ी सीरियस होकर बोली- तू यह सब देखता है?
मैं रोने जैसा चेहरा करके बोला- सॉरी मॉम, आगे से नहीं देखूंगा.
मॉम ज़ोर से हंसी और बोली- अरे बेटा, मैं तो ऐसे ही मज़ाक कर रही हूं. मुझे मालूम है कि आजकल सभी लड़के लड़कियां ऐसे वीडियो देखते ही हैं.

फिर मैंने पत्ते बांटे और इस बार भी मैं जीत गया. इस बार कुछ अलग करने का मैंने सोचा था, मैं बोला- मॉम आप खड़ी हो जाएं!
मॉम मुस्कराती हुई खड़ी हो गई.

फिर मैंने अचानक मॉम के होठों पर अपने होठों से ज़ोरदार किस किया, फिर गाल पर किया.
मॉम एकदम चकित हो गई कि यह क्या हो रहा है. वो समझ गयी कि बेटा मॉम सेक्स की सोच मन में लिए हुए है.
Sexy👙👠💋 story👌👌👌❣️
 
Rajizexy's SIGNATURE

56,711

Members

330,003

Threads

2,756,364

Posts
Newest Member
Back
Top